नोट बदली का असर: 2000 के नोट से जेवर और किराना का समान खरीदने पहुंच रहे लोग, दुकानदार ने कहा – पुरे का खरीदें सामान, वरना …

नोट बदली का असर: 2000 के नोट से जेवर और किराना का समान खरीदने पहुंच रहे लोग, दुकानदार ने कहा – पुरे का खरीदें सामान, वरना …

सम्वाददाता।पटना

आरबीआई के बड़े फैसले का असर अभी से दिखने लगा है। 2000 के नोट का चलन बंद करने के फैसले के बाद पटना के बाजारों में जेवर खरीदने वाले, गाड़ियों में पेट्रोल भरवाने वाले लोगों की भीड़ बढ़ गई है। लोग अपने गाड़ियों में हजार 500 की जगह सीधा 2000 का इंधन भरवा रहे हैं ताकि उनका 2000 का नोट खत्म हो सके।
दरअसल, रिजर्व बैंक के आदेश के बाद राजधानी पटना के बाद कड़गडल बोरिंग रोड डाकबंगला चौराहे की जेवर दुकानों में 2000 के नोट लेकर सोना चांदी खरीदने वाले ग्राहकों की भीड़ बढ़ गई है। इसके साथ ही मॉल में भी लोग 2000 के नोट लेकर आम दिनों की तुलना में अधिक पहुंच रहे हैं।
वहीं, लगातार 2000 के नोट सामने आने पर किराना दुकानदार भी अब सीधा यह कह रहे हैं कि पूरे का सामान खरीदने पड़े वह 2000 का नोट लेंगे वरना वह भी 2000 का नोट लेने से मना कर रहे हैं। इतना ही नहीं पेट्रोल पंप पर भी ग्राहक 2000की नोट लेकर अब पेट्रोल डलवाने पहुंच रहे हैं और उन्हें भी पूरे पैसे का पेट्रोल डलवाना पड़ रहा है।


इधर, फिलहाल आरबीआई के आदेश के बाद अभी तक नोट बदलने के लिए बैंकों में भीड़ नहीं दिखी है। उम्मीद जताई जा रही है किक सोमवार से लोगों की कतार बैंकों में देखने को मिल सकती है। फिलहाल बैंक में इक्का-दुक्का लोग ही नोट बदलने आ रहे हैं। बैंक वालों का कहना है कि कुछ महीनों से 2000 के नोट का प्रचलन कम हुआ है जिसके कारण लोगों के पास सीमित मात्रा में ही नोट उपलब्ध है। ऐसे में लोग आसानी से नोट जमा कर सकते हैं। वही आने वाले मंगलवार से 2000 के 10 नोट या नहीं मात्र 1 दिन में ₹20000 का ही बदलाव किया जा सकेगा।

आपको बताते चलें कि, शुक्रवार की रात आरबीआई ने दो हजार के नोटों को वापस लेना एलान कर दिया। आरबीआई के मुताबिक देश में दो हजार के नोट वैध रहेंगे लेकिन उनका सर्कुलेशन रोक दिया गया है। फिलहाल बाजार में जो दो हजार के नोट मौजूद हैं वे वैध रहेंगे। जिन लोगों के पास दो हजार के नोट हैं वे बड़ी ही आसानी से 23 मई से बैंकों में जाकर उन्हें जमा कर सकते है या बदल सकते हैं। इसके लिए आरबीआई ने 30 सितंबर तक का समय दिया है।

deepak