Breaking: बन्दरा में जीविका दीदी पर्यावरण सखी के रूप में लोगों को कर रही प्रेरित

-बन्दरा में जीविका दीदी पर्यावरण सखी के रूप में लोगों को कर रही प्रेरित

बंदरा। दीपक कुमार तिवारी।

जीविका बंदरा के तत्वावधान में जल जीवन हरियाली अभियान के अन्तर्गत प्रखंड के सभी पंचायत में पुराने वृक्षों के सुरक्षा-संवर्धन एवं नया वृक्षारोपण का विशेष अभियान चलाया जाना है। इस अभियान की शुरुआत बुधवार को बंदरा पंचायत से की गई। इस दौरान जीविका के प्रखंड परियोजना प्रबंधक राकेश कुमार ने जीविका दीदियों को संबोधित करते हुए कहा कि पौधे हमारे मित्र हैं,जो हमारे जीवन की प्रत्येक सांस के लिए अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।पौधे के अभाव में मानव जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है।उन्होंने कहा कि हम विकास करें परन्तु पर्यावरण की कीमत पर नहीं। हम बेहतर जल और बेहतर कल देने का प्रयास करें। जीवन को बचाने के लिए दोनों आवश्यक है।

उन्होंने जीविका दीदी को पर्यावरण सखी के रूप में कार्य करने के लिए प्रेरित एवं प्रोत्साहित किया। जीविका दीदियों को स्वंय सहायता समूह और ग्राम संगठन स्तर से जागरूक कर उनके जीवन में वृक्षों का महत्व बताने के लिए और प्रत्येक दीदियों को कम से कम पांच वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित किया। जिससे पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ संबंधित जीविका दीदी को पोषण और जीविकोपार्जन की दिशा में महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। बीपीएम ने बताया कि अब तक लगभग 29000 पौधा विभिन्न पंचायत में उपलब्ध कराया गया है। जिसमें प्रति पंचायत लगभग 2800 पौधा शामिल है। इसमें आम,अमरूद,कटहल, निबू सरीफा,सागवान,महोगनी आदि हैं।
क्षेत्रीय समन्वयक राजीव कुमार ने बताया कि प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है। पेड़ों की अंधाधुंध कटाई के कारण ये दिक्कत आ रही है। इसलिए जीविका दीदीयों ने पेड़ लगाने की मुहिम शुरू की है।
वहीं सामुदायिक समन्वयक सुनील कुमार ने बताया कि हमारे स्वास्थ्य एवं समृद्धि का पेड़ों से बहुत गहरा संबंध है। पेड़ हमारे लिए अत्यन्त उपयोगी है।
इस अभियान के तहत पटसारा, तेपरी, रामपुरदयाल, मुतुलुपुर, बंदरा, हथा, नुनफरा पंचायत आदि में जीविका दीदियों द्वारा नये पौधा लगाने की शपथ दिलाई गयी। इस अवसर पर जीविका दीदियों ने रंगोली और लोक गीतों के माध्यम से लोगों को जल जीवन हरियाली के प्रति जागरूक की। जीविका दीदियों ने मानव श्रृंखला बनाकर भी लोगों को पर्यावरण जागरूकता का संदेश दिया। पेड़ो की सुरक्षा को लेकर यह सराहनीय पहल है।
इस दौरान सामुदायिक समन्वयक सुनील कुमार, रीना कुमारी, नेहा कुमारी, प्रीति सिंह,लेखापाल राम सकल महतो, अविनाश कुमार, राहुल कुमार, राजू कुमार श्रीनाथ, शबनम खातून, रिजवाना खातून ,संगीता देवी, अरविंद कुमार, मीरा कुमारी अखिलेश कुमार आदि भी शामिल थे।

deepak