9 साल की कड़ी मेहनत लाई रंग,प्रवीण बने दारोगा





मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)।

जमुई के सिकंदरा प्रखंड के पाठकचक गांव के स्व:पुनीत सिंह के पुत्र प्रवीण सिंह ने आखिरकार 9 साल की कड़ी तपस्या के बीच पुलिस अवर निरीक्षक का पद हासिल कर ही लिया।दरअसल बात ये है कि वर्ष 2004 में बिहार सरकार ने पुलिस अवर निरीक्षक की बहाली निकाली थी|

आवेदन करने के पश्चात वर्ष 2008 में सरकार ने परीक्षा ली।प्रवीण की रिजल्ट पेंडिंग लिस्ट में डाल दी गई थी।फिर हाईकोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट में केस दायर किया।उसके बाद बीते 8 मई को सुप्रीम कोर्ट में जीत हासिल कर ली।

वहीं सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार सोमवार को मुंगेर के डीआईजी जितेन्द्र मिश्रा द्वारा नियुक्ति पत्र सौंपा गया।प्रवीण बतातें हैं कि वे अपनी सफलता के लिए संघर्ष जारी रखा।

उन्हें पूर्ण विश्वास था कि मेरी जीत पक्की है।मुझे वर्दी पहनने से कोई रोक नहीं सकता है।अंततः प्रवीण के आत्मविश्वास ने उन्हें मुकाम हासिल करा ही दिया।जिस जगह वह पहुंचना चाहते थे।

Post Slider

1
3
2
2021-03-30 (5)
2021-03-30 (4)
2021-03-30 (1)
2021-03-30 (2)
img-20210330-wa00806031713827868325731.jpg
2021-03-30 (7)
2021-03-30 (12)
2021-03-30 (11)
2021-03-30
2021-03-30 (9)
2021-03-30 (3)
1
2021-03-30 (6)
2021-03-30 (10)
deepak