UP में अब हर दिन एक लाख लोगों की होगी कोरोना जांच,योगी का निर्देश

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

संवाददाता। लखनऊ।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अतिरिक्त वेंटिलेटर का प्रबंध करने का निर्देश देते हुए शनिवार को कहा कि कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए ‘अग्रसक्रिय’ होकर कार्य करने की जरूरत है।योगी ने कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए ‘प्रोएक्टिव’ होकर कार्य करने पर जोर देते हुए कहा कि ‘इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर’ के माध्यम से बेहतर समन्वय बनाकर मरीजों को सभी चिकित्सा सुविधाएं सुलभ कराई जाएं।मुख्यमंत्री यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे।उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सा संसाधनों की पर्याप्त संख्या में व्यवस्था बना कर रखी जाए और आवश्यकतानुसार अतिरिक्त वेंटिलेटर का प्रबंध किया जाए।पोर्टेबल वेंटिलेटर की भी व्यवस्था की जाए।

उन्होंने बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर तथा झांसी मेडिकल कॉलेज में तत्काल अतिरिक्त वेंटिलेटर की व्यवस्था किए जाने के निर्देश भी दिए। योगी ने कोविड-19 की प्रतिदिन एक लाख से अधिक जांच कराने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि ये जांच आरटीपीसीआर, ट्रूनैट मशीन तथा रैपिड एन्टीजन विधि से किए जाएं।एन्टीजन टेस्ट की संख्या को बढ़ाए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि रैपिड एन्टीजन टेस्ट किट की सुचारु उपलब्धता प्रत्येक जनपद में रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मरीजों को सुविधाएं सुलभ कराने के लिए पूरी संवेदनशीलता बरतते हुए कार्य किया जाए, जिससे प्रत्येक जरूरतमंद को बेड, वेंटिलेटर, आक्सीजन आदि उपलब्ध हो सके।घर पर पृथक मरीजों से निरन्तर संवाद बनाकर उनकी स्थिति पर नजर रखी जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चिकित्सा कर्मियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए पर्याप्त संख्या में पीपीई किट, मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर आदि की निरन्तर उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए

कि सभी त्योहारों को शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए पूरी सावधानी बरती जाए।

a2znews