निजी विद्यालय प्रबंधन की मनमानी को लेकर डीएम कार्यालय में उमड़ा अभिभावकों का भीड़

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

जमुई।नितेश कुमार केशरी

निजी विद्यालय प्रबंधन की मनमानी को लेकर जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार एवं शिक्षा पदाधिकारी विजय कुमार हिमांशु को ज्ञापन दिया गया था लेकिन अभिभावकों को सही आस्वासन नहीं मिला। इसके बावजूद स्कूल द्वारा बार बार फीस को लेकर मोबाइल पर मैसेज भेजा जा रहा है जिससे लोग मानसिक रूप से परेशान हो रहे है। जिलाधिकारी ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि हम आपके भावनाओं के साथ है मैं पत्र के माद्यम से बिहार सरकार को लिखूंगा। खबर आते ही स्कूल प्रबंधक को सूचना दे दी जाएगी। तो दूसरी ओर स्कूल प्रबंधन द्वारा यह भी कहा जा रहा है कि अगर निम्न तारीख के अंदर फी का भुगतान नहीं किया गया तो लेट फाइन के साथ शुल्क लिया जाएगा। उपस्थित लोगों ने यह भी कहा कि हमारे पास पैसा बिल्कुल नहीं बचा है रासन वाले का कर्ज हो गया है अगर स्कूल प्रबंधक का यही रवैया तो हम बच्चे को स्कूल भेजने में असमर्थ हो जाएंगे।

जबकि पिछले पत्र के आलोक में जिलाधिकारी द्वारा जांच का आदेश दिया गया था. डीएम के गोपनीय शाखा से निकले पत्रांक 27 में कहा गया है कि कोविड-19 संक्रमण रोकने को लेकर लॉक डाउन के दौरान निजी विद्यालय खुला रहना कहीं से भी उचित नहीं है ऐसी जानकारी मिल रही है कि शहर के ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल, संत जोसेफ स्कूल तथा डीएवी पब्लिक स्कूल जमुई द्वारा कार्यालय से संबंधित कार्य तथा पुस्तक क्रय सहित अन्य कार्य के लिए छात्र के माता-पिता तथा अभिभावक को विद्यालय आने के लिए व्हाट्सएप मैसेज किया गया है हालांकि इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि अन्य निजी विद्यालय द्वारा भी ऐसा किया जा रहा हो या करने का प्रयास किया जा रहा हो। पत्र में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि कोविड-19 रोकने के लिए लगाए गए लॉक डाउन को गृह मंत्रालय भारत सरकार के आदेश संख्या 40-3 -2020 दिनांक 17 .5.2020 द्वारा 31.5 . 2020 तक विस्तारित करते हुए गाइडलाइंस जारी किया गया है इसके बावजूद उक्त विद्यालय प्रबंधन द्वारा मनमानी करना दंडनीय अपराध है। उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी से स्थलीय निरीक्षण कर शीघ्र ही रिपोर्ट भेजने का निर्देश भी दिया था ताकि समय रहते न्याय संगत कार्यवाई किया जा सके। इस मौके पर सैकड़ों की संख्या में अभिभावक मौजूद हुए।

a2znews