BREAKING:सीतामढ़ी में प्रवासी श्रमिकों को क्वॉरेंटाइन में रखने का बदला नियम

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

संवाददाता। सीतामढ़ी।


बिहार के बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखने के लिए बिहार सरकार ने नया निर्देश जारी किया है. अब कुछ शहरों को छोड़कर अन्य सभी लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर की जगह होम क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा. इस निर्देश के बारे में सीतामढ़ी की डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने जानकारी दी है।


डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि सूरत, अहमदाबाद, मुंबई, पुणे, दिल्ली, कोलकाता, बेंगलुरु, जयपुर और हैदराबाद से आने वाले प्रवासी श्रमिकों या अन्य व्यक्तियों को प्रखंड में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जाएगा. बाकी के अन्य इलाकों से आए हुए लोगों की स्क्रीनिंग करने के बाद उन्हें 14 दिनों के होम क्वॉरेंटाइन में भेज दिया जाएगा. गांव में आशा कार्यकर्ता या आंगनवाड़ी सेविका के द्वारा डोर टू डोर जाकर हेल्थ सर्वे लगातार 14 दिनों तक किया जाएगा. पंचायतों की मुखिया वार्ड सदस्य तथा चौकीदार को निर्देश दिया गया है कि वे होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाले लोगों पर नजर रखेंगे।


इसके साथ ही बताया गया है कि दंडाधिकारी एवं पुलिस अधिकारी द्वारा नियमित रूप से गस्ती लगाकर होम क्वॉरेंटाइन का अनुपालन सख्ती से कराया जाएगा. उन्होंने बताया कि केवल सूरत, अहमदाबाद, महाराष्ट्र के मुंबई, कल्याण, थाने, धारावी, पुणे एवं दिल्ली, कोलकाता, बेंगलुरु, जयपुर, हैदराबाद से आने वाले लोगों को ही को प्रखंड में बने क्वॉरेंटाइन सेंटरों में भेजा जाएगा. इसके अलावा अन्य राज्य या शहर से आने वाले लोगों को प्रखंड स्तर पर रजिस्ट्रेशन कैंप में उनका निबंधन किया जाएगा और उसके बाद उनका हेल्थ स्क्रीनिंग किया जाएगा और फिर उन्हें उनके घर में क्वॉरेंटाइन के लिए भेज दिया जाएगा।होम क्वॉरेंटाइन वाले लोगों से प्रशासन शपथ पत्र भरवा कर उन्हें प्रमाण पत्र जारी करेगी।
डीएम ने बाहर से आने वाले श्रमिकों एवं अन्य व्यक्तियों से अनुरोध किया है कि वे जिला प्रशासन द्वारा दी जाने वाली सुझाव, दिशानिर्देशों का अनुपालन करें. साथ ही यह भी कहा कि जो व्यक्ति सुझाव या निर्देशों की अवहेलना करेंगे उन पर सख्ती से महामारी अधिनियम की धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।

a2znews