सीतामढ़ी में लूट के रुपए एवं घटना में प्रयुक्त स्कूटी व हथियार के साथ 5 अपराधी गिरफ्तार

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

संवाददाता । सीतामढ़ी।

सीतामढ़ी शहर स्थित कोर्ट बाजार के पास स्कूटी सवार अज्ञात अपराधियो द्वारा शहर के साइकिल व्यवसायी प्रभास हिसारिया से लूटपाट करने के क्रम में गोली मारकर हत्या करने से संबंधित सीतामढ़ी थाना कांड संख्या 256/20. धारा 394/302, 27(0) आर्म्स एक्ट के उद्भेदन के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया। गठित टीम द्वारा सूचना प्राप्त कर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में अपराधियों के विरूद्ध छापेमारी की गई छापेमारी के क्रम में घटना में शामिल 5 अपराधियों को लूट के रुपए एवं घटना में प्रयुक्त स्कूटी एवं हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया है । इस कांड में शीघ्र आरोप पत्र समर्पित कर स्पीडी ट्राइल किया जाएगा।


गिरफ्तार अपराधियों का नाम पता:
राहुल सिंह 35 वर्ष पिता सुनील सिंह थाना सुप्पी,सीतामढ़ी 2. उत्कर्ष कुमार उर्फ छोटू पिता स्वर्गीय कोभारी सिंह उर्फ रविरंजन सिंह थाना सुप्पी, सीतामढ़ी 3. रोशन सिंह पिता अनिल प्रसाद सिंह माधोपुर बलुआ थाना मेजरगंज 4. सूरज कुमार पिता रणधीर शर्मा मालीपुर थाना सीतामढ़ी 5. गौतम कुमार पिता राम विनोद सिंह थाना जिला सीतामढ़ी.
बरामद सामानो की विवरण निम्न प्रकार है : लूट के ₹60500,घटना में प्रयुक्त बिना नंबर प्लेट का एक्टिवा स्कूटी एवं एक हेलमेट। घटना में प्रयुक्त 7.65 एम्स का एक पिस्टल जिसमें 1 गोली लोड पाया गया। घटना के बाद अपराधियों द्वारा भागने में प्रयुक्त यामहा फेजर का एक मोटरसाइकिल जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर BR 30K7016. एक लाल रंग का चेक लगा हुआ झोला मृतक का एक कथित रंग का डायरी अभियुक्त का एक लाल रंग का फूल मृतक का एक फटा हुआ छोटा डायरी तथा 4 मोबाइल !
व्यवसायी प्रभात हिसारिया की बुधवार सुबह अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी। पुरानी एक्सचेंज रोड के निवासी और प्रभास साइकिल स्टोर्स के मालिक प्रभास हिसारिया काे कोट बाजार में अपने गोदाम से जाते हुए अपराधियों ने पीछा कर वारदात को अंजाम दिया। उनको बिल्कुल करीब से सीने में गोलियां दागी। इससे पहले उनके हाथ से रुपयों से भरा थैला छीन लिया।


थैली की छीना झपटी के बाद ही स्कूटी सवार तीन अपराधियों में एक ने उन्हें गोलियां मारी। थैले में तकरीबन छह लाख रुपये थे, जो लूटकर अपराधी भाग खड़े हुए। 64 साल के व्यवसायी प्रभाष हिसारिया दिलेरी के साथ अपराधियों से लोहा लेते रहे। अपराधी जब कामयाब नहीं हुए तो छीना झपटी करते हुए गोली मार दी।
रंगदारी के लिए वर्ष 2008 में भी प्रभास स्टोर्स में फायरिंग की गई थी। नगर थाने में मामले दर्ज हैं। वर्ष 2008 में शातिर चिरंजीवी सागर उर्फ चिरंजीवी भगत ने रंगदारी मांगी थी। नहीं देने पर बम विस्फोट कराया था। नवीन मेडिकल हाल के मालिक यतीन्द्र खेतान की हत्या के बाद शहर में किसी बड़े व्यवसायी की हत्या की यह पहली और बड़ी वारदात बताई जाती है। लॉकडाउन में दिनदहाड़े हत्या की इस सनसनीखेज वारदात के बाद पुलिस प्रशासन के भी होश उड़ गए।

a2znews