रांची के हिंदपीढ़ी में कोरोना की दूसरी मरीज मिली,झारखंड में अब तक 4 पॉजिटिव केस

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

रांची ।संवाददाता।

झारखंड की राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी में कोरोना वायरस का दूसरा और झारखंड का चौथा मरीज मिला है. सोमवार (6 अप्रैल, 2020) को यह मामला सामने आया. कोरोना वायरस से संक्रमित यह मरीज एक महिला है. 54 साल की इस महिला की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है. आशंका जतायी जा रही है कि वह मलयेशियाई महिला के संपर्क में आने की वजह से संक्रमित हुई होगी. हालांकि, अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है.
रांची के हिंदपीढ़ी इलाके की एक मस्जिद से निकाले गये लोगों में मलयेशिया की एक महिला कोरोना वायरस से संक्रमित पायी गयी थी. इस वक्त राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में उसका इलाज चल रहा है. आशंका है कि उसी महिला के संपर्क में आने से इस महिला में भी यह वायरस पहुंचा होगा.
हालांकि, अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है. इस बात की जांच की जा रही है यह महिला अब तक कितने लोगों के संपर्क में आ चुकी है. साथ ही यह भी पता लगाया जा रहा है कि रिम्स में भर्ती मलयेशियाई महिला किन-किन लोगों के संपर्क में आयी थी. इस बात की भी जांच की जा रही है कि यह महिला इस वायरस की चपेट में कैसे आयी. ऐसी सूचना है कि इस वक्त यह महिला खेलगांव के आइसोलेशन सेंटर में है.
कोरोना वायरस से लंबे अरसे तक सुरक्षित रहने वाले झारखंड में इस जानलेवा बीमारी से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है. राजधानी रांची के हिंदपीढ़ी में ही कोरोना वायरस से संक्रमित पहली मरीज मिली थी. इस तरह कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या प्रदेश में 4 हो गयी है. इनमें तीन महिलाएं हैं.
तबलीगी जमात से जुड़ी मलयेशियाई महिला में 31 मार्च को कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी. इसके बाद हजारीबाग के विष्णुगढ़ का एक व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित पाया गया था. वह पश्चिम बंगाल के आसनसोल में बीमार पड़ा था और उसके बाद अपने गांव लौटा था. हजारीबाग के जिला अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है.


बोकारो जिला के चंद्रपुरा स्थित तेलो पंचायत की एक महिला में भी कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई थी. यह महिला बांग्लादेश की राजधानी ढाका में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भाग लेकर 18 मार्च, 2020 को झारखंड लौटी थी. उसे बोकारो के एक क्वारेंटाइन सेंटर में पृथक रखा गया है.

a2znews