जलसा पुस्तक मेला में प्रसिद्ध लेखकों पर परिचर्चा का किया गया आयोजन

मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)

शहर के गांधी पुस्तकालय में 8 दिवसीय जमुई जलसा पुस्तक मेला के चौथे दिन प्रसिद्ध लेखकों पर और उनकी रचनाओं पर साहित्य के पाठकों ने परिचर्चा की। इस अवसर पर साहित्य कारों के अलावा बड़ी संख्यां में छात्र- छात्रा शामिल हुए। इस अवसर पर गंभीरता के साथ दर्शकों को हिंदी साहित्य की महत्ता और राग- अलाप के साथ अपनी संस्कृति व भाषाओं की खूबसूरती को सुनाया गया। साहित्यक तरीके से देश की संस्कृति और विश्व के साहित्यकार फ्रांस व ब्रिटेन के लेखकों की भी चर्चा करते दिखे। परिचर्चा का मंच संचालक आयोजक प्रभात कुमार चन्द्रवंशी ने किया। इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत में रिटायर सबइंस्पेक्टर नन्द किशोर सिंह ने महान लेखक व कवि बिनोद कु. शुक्ल पर लंबी परिचर्चा करते हुये यूरोप व ब्रिटेन के लेखकों की रचनाओं पर लंबी बात रखी। समाज सेवी व युवा नेता राजेन्द्र यादव ने कहा कि आज के युवा सहित्य से दूर हो चुके हैं। उन्हें साहित्य की ओर आना होगा, तभी समाज के लोग मुख्य दिशा की ओर बढ़ पाएंगे। बी- टेक के छात्र सुभाष कुमार ने शायरी के साथ मुंसी प्रेमचंद पर परिचर्चा की। समाजसेवी राजीव सिंह ने अंग्रेजी के लेखक पर जोर देते हुए हिंदी में ही दर्शकों के बीच बात रखी। बी- टेक की छात्रा मधुबाला भारती ने गीत, गज़ल के साथ मैथिली की विरासत को बताया और मैथिली भाषा के लेखकों पर बात की।


कार्यक्रम में रिटायर्ड डिप्टी कलेक्टर गीता प्रसाद राम, व रिटायर्ड शिक्षक बीरेन्द्र कुमार वर्मा, प्रिन्स कुमार, कुमार उत्तम, फैसल होदा, हन्नी कु, बुलंद अख्तर, फैयाज आलम, ऋषि भारत आदि ने दर्शकों का स्वागत किया। प्रभात ने बताया कि 16 फरवरी तक आयोजित जलसा पुस्तक मेला के दौरान विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

a2znews