अवैध बालू खनन के विरोध में सड़क पर उतरे ग्रामीण, जमकर हुई पत्थराव, चली गोली

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

*ग्रामीणों ने जमुई- लखीसराय मुख्य मार्ग को किया जाम

*दहशत फैलाने को लेकर बालू माफियाओं द्वारा की गई गोलीबारी

*गोलीबारी के बाद बाइक छोड़ फरार हुए बालू माफिया पुलिस ने तीन बाइक को किया जप्त

*दोनों गांव के बीच तनाव का माहौल व्याप्त

मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)।

सदर प्रखंड के दौलतपुर और मनियड्डा गांव के बालू माफियाओं के बीच शुरू हुई वर्चस्व को लेकर लड़ाई गुरुवार की सुबह को व्यापक रूप इख्तियार कर ली, और लड़ाई में दोनों गांव के ग्रामीण आमने- सामने हो गए। इस दौरान दौलतपुर से आए बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने जमकर रोड़ेबाजी करनी शुरू कर दी। उसके बाद मनियड्डा गांव के सैकड़ों ग्रामीण सड़क पर उतर आए और अवैध बालू खनन के विरोध में जमुई- लखीसराय मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। जाम कर रहे आक्रोशित ग्रामीणों का सामना मुसाफिरों के साथ- साथ परीक्षार्थीयों को भी करना पड़ा। करीब आधे घंटे के जाम से पूरी तरह यातायात ठप हो गया।

बालू लोड कर जा रहे ट्रैक्टर को ग्रामीणों ने रोका:

बता दें कि अहले सुबह बालू माफियाओं द्वारा सदर प्रखंड के दौलतपुर घाट से बालू निकाल कर मनिअड्डा गांव की ओर जा रहा था। बालू लदा ट्रैक्टर जाता देख ग्रामीणों ने ट्रैक्टर को रोक दिया। इस बात की सूचना बालू माफिया को हो गई। कुछ ही देर के बाद दौलतपुर से बड़ी संख्या में आए बालू माफियाओं के साथ ग्रामीणों ने मनियड्डा गांव पर ईंट और पत्थराव कर हमला कर दिया। इसके जवाब में मनियड्डा के ग्रामीण सड़क पर उतर गए।

गोलीबारी के बाद बाइक छोड़कर फरार हुआ बालू माफिया:

जब दोनों ग्रामीण आमने- सामने हुए तो दौलतपुर की ओर से दहशत फैलाने को लेकर करीब आधा दर्जन से अधिक गोलीबारी की गई। इधर सूचना के बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस को देख बालू माफिया बाइक छोड़कर फरार हो गया। पुलिस द्वारा तीनों बाइक को जब्त कर थाना ले आई। बताया जाता है कि अवैध बालू के उठाव को लेकर बालू माफियाओं के बीच हमेशा झड़प होते रहता है।

परीक्षा के दौरान ट्रैक्टर नहीं चलाने के लिए हुई थी बात

मनियड्डा के ग्रामीणों ने बताया कि अवैध बालू का धंधा जोर- शोर से चल रहा है। जिस वजह लोगों को परेशानी हो रही है। रात- दिन हमलोग चैन से सो नहीं पाते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इंटर की आयोजित परीक्षा और मैट्रिक की होने वाली परीक्षा के दौरान ट्रैक्टर के आवागमन पर रोक लगाई गई थी। ताकि परीक्षार्थियों को आने- जाने में परेशानी न हो लेकिन बालू माफिया द्वारा कुछ दिन के बाद फिर अवैध बालू का धंधा शुरू कर दिया गया।
ग्रामीणों ने बताया कि पुलिस को सूचना देने के बावजूद बालू का अवैध कारोबार बंद नहीं हो रहा है। अवैध बालू लेकर तेज़ रफ़्तार में ट्रैक्टर वाहन चलाया जाता है। अधिकांश चालक नाबालिग रहते हैं। जिससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। इधर पुलिस द्वारा समझा- बुझा कर कड़ी मोशक्कत के बाद जाम को हटाया जा सका। फिलहाल दोनों गांव में बीच तनाव का महौल बना हुआ है।

a2znews