जल और हरियाली है तभी जीवन सुरक्षित है:नितीश कुमार

img-20200419-wa0006-72781328379817793567.jpg
img-20200419-wa0000-85277475373482181001.jpg
img-20200419-wa0005-74006513932818183178.jpg

गोविन्द पांडेय।पटना(बिहार)।

केंद्रीय एवं बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण परिषद समितियों के अध्यक्ष और सदस्यों का 64वां सम्मेलन पटना में आयोजित किया गया है। बिहार संग्रहालय में आयोजित इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दीप प्रज्वलित कर किया । इस दो दिवसीय कार्यक्रम में चीफ गेस्ट के रूप में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भाग ने भाग लिया । सीएम और डिप्टी सीएम के अलावा कई अधिकारी भी कार्यक्रम में शिरकत किया । सम्मलेन में केंद्र और बिहार सरकार के कई अधिकारी भाग लिया । सम्मेलन में पहली बार केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अधिकारी एक साथ प्रदूषण कम करने की दिशा में काम करने के बारे में चर्चा की गई । पॉल्यूशन कंट्रोल के लिए राज्य और केंद्र सरकार के अधिकारी एक-दूसरे से डेटा एक्सचेंज करेंगे साथ ही प्रदूषण की रोकथाम के उपायों पर भी चर्चा हुई । नीतीश कुमार ने अपने भाषण में कहा की प्रदुषण को लेकर लोगो को जागरूप करना होगा । पलास्टिक और कैरी बेग का भी यूज जितना कम हो उतना अच्छा है । वही गंगा नदी का जल को कैसे प्रदूषित होने से बचाया जाए इस पर कार्य तेजी से हो रहा है । जल जीवन हरियाली को लेकर भी अपनी बातो को रखते हुए कहा कि जल और हरियाली के बिच ही जीवन है । जल और हरियाली है तभी जीवन सुरक्षित है । जल और हरियाली में कमी आएगी तो जीवन भी खराब होगा । चाहे जो भी जो मनुष्य हो जानवर हो पक्षी हो सभी का जीवन हरियाली और जल से ही सुरक्षित है ।

a2znews