BREAKING:बन्दरा के पंसस ने भ्र्ष्टाचार एवं अफसरों के खिलाफ मोर्चा खोला,जांच एवं सामूहिक तबादले की मांग;21 से आमरण अनशन का एलान

 

बंदरा । संवाददाता।

प्रखण्ड के 17 में से 13 पंचायत समितियों ने विभिन्न योजनाओं में गड़बड़ियों के खिलाफ बीडीओ,सीओ एवं अन्य विभागीय अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोला है।पंचायत समिति सदस्यों ने वरीय विभागीय अधिकारियों एवं मंत्री को आवेदन भेजकर प्रखण्ड के सभी अफसरों के सामूहिक तबादले एवं जांच की मांग की है।

मांगों के पूरा नहीं होने की स्थिति में 21 दिसम्बर से प्रखण्ड के ग्रामीणों के साथ सामूहिक आमरण अनशन शुरू करने की चेतावनी दी गयी है।इससे पहले इन प्रतिनिधियों ने एक बैठक कर इस आंदोलन को तेज करने का निर्णय लिया है।जिसके बाद सोमवार को आंदोलन का एलान कर दिया। प्रखण्ड के 13 पंसस के हस्ताक्षर वाली आवेदन पत्र मुख्यमंत्री,उप मुख्यमंत्री,नेता प्रतिपक्ष,पंचायतीराज मंत्री ,जिलाधिकारी,उप विकास आयुक्त,अनुमंडल पदाधिकारी आदि को आवेदन भेजकर कार्यवाई की मांग की है। आवेदन में बीडीओ,सीओ,पीओ,एमओ,बीएओ,बीईओ के सामुहिक तबादला,प्रखण्ड में डेढ़ साल से पंसस की बैठक नहीं बुलाने,पंचायतों में आरटीपीएस कार्यालय पर कर्मियों की तैनाती नहीं करने,मनरेगा मजदूरों को 100 दिन रोजगार नहीं देने,दो साल से किसानों को इनपुट राशि नहीं देने,समय से आंगनबाड़ी एवं स्कूलों के संचालित नहीं होने तथा प्रखण्ड में चल रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ 15 दिसम्बर तक कार्यवाई नहीं होने पर 21 दिसंबर से सामुहिक आमरण अनशन करने की चेतावनी दी गयी है।

आवेदन पर पंसस विनय कुमार पाठक,विनय कुमार सहनी,सैयदा शहजादी फातमा,शबनम परवीन,निर्मला देवी,शम्भु ठाकुर,ममता देवी,इंदु देवी,सविता कुमारी,किरण देवी, अनिता देवी,प्रभु मांझी,निर्मला देवी के हस्ताक्षर शामिल है।

deepak