समस्या का निदान रोने से नहीं बल्कि उसके खिलाफ लड़ने से होगा:अजीत

संवाददाता।  मुज़फ्फरपुर।

जनप्रतिनिधि जब अक्षम हो तो समस्या का अंबार लगना स्वभाविक है।आज कांटी विधानसभा क्षेत्र के लोग ऐसे ही स्थिति का शिकार बन, जन जनसमस्याओं से जूझ रहे हैं ।लेकिन समस्या का निदान रोने से नहीं लड़ने से होगा।
उक्त बातें हैं रविवार को कोल्हुआ पैगंबरपुर आदर्श ग्राम में स्थानीय लोगों द्वारा जन समस्याओं पर चर्चा के लिए आहूत की गई महापंचायत को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा। स्थानीय लोगों ने पूर्व मंत्री को बीते 5 वर्षों से इस इलाके का बाधित विकास कार्य से अवगत कराते हुए कहा की यहां का लगभग 35 छोटी बड़ी सड़कें खंडहर की स्थिति में आ गई है । लेकिन स्थानीय मुखिया के अलावा कोई भी जनप्रतिनिधि हमारे इन समस्याओं को सुनना मुनासिब नहीं समझा है। लोगों ने प्रतिनिधियों का उपेक्षा की चर्चा करते हुए आदर्श ग्राम रोड नंबर 1 का सड़क , जो मुख्यमंत्री सड़क योजना से 4 वर्ष पूर्व बनना शुरू हुआ था वह आज तक पूरा नहीं हो पाया है । विद्युत समस्या से भी लोग परेशान हैं अभी भी बांस बल्ले पर लाइन खींचकर लोग विद्युत उपभोग कर रहे हैं। कहीं-कहीं पोल तो लगे हैं लेकिन लोग महीनों से केवल का इंतजार कर रहे हैं ।
पूर्व मंत्री ने समस्याओं को सुनने के उपरांत लोगों से कहा कि आप समस्याओं को लेकर रोने के बजाय लड़ने को तैयार हो। हम आपके लड़ाई का अगुवाई करेंगे । मौके पर उन्होंने ग्रामीण कार्य विभाग के अभियंता से दूरभाष पर बात कर लंबित सड़क निर्माण कार्य का समीक्षा कर शीघ्र पूरा कराने को कहा। उन्होंने कहा कि यदि विभाग अधूरे कार्य को शीघ्र पूरा नहीं कराती है तो हम उसके खिलाफ लड़ाई प्रारंभ कर देंगे ।
महापंचायत की अध्यक्षता ठाकुर पशुपतिनाथ आजाद ने किया। इस अवसर पर अरुण कुमार सिंह, अनमोल श्रीवास्तव, मुन्ना प्रसाद, रानू सिंह, सोनू सिंह, धर्मेंद्र चौबे, धर्मेंद्र मिश्रा, राकेश कुमार सिंह, बबलू सिंह, प्रभाकर झा, राजू झा, नागेंद्र बैठा, ललन मंडल, सीताराम झा, पिंटू ठाकुर, विवेक मंडल, बिट्टू सिंह, शुभम सिंह, विवेक गिरी, शिवनाथ साहआदि लोगों ने महापंचायत को संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन स्थानीय मुखिया गीता देवी निषाद ने किया।

a2znews