CM नीतीश ने पश्चिम चंपारण को दी 305 करोड़ की सौगात, कहा- अगले साल तक पक्की सड़क से जुड़ जायेंगे हर गांव और टोले

 

संवाददाता । बेतिया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को पश्चिम चंपारण से अपनी यात्रा की शुरुआत की. यहां उन्होंने कई योजनाओं का लोकार्पण किया. उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में वायदा किया था, उसे पूरा करने आया हूं. हम चंपारण से ही यात्रा शुरू करते हैं. साथ ही कार्यक्रम की शुरुआत भी यहीं से करते हैं. साथ ही मुख्यमंत्री ने बेतिया के मैनाटांड़ में 305 करोड़ की करीब 51 योजनाओं की सौगात दी.मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में अब डीजल से खेती करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि अब किसानों सिंचाई के लिए खेत तक बिजली पहुंचायी जा रही है. साथ ही कहा कि बिहार के हर एक गांव और टोलों को पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य अगले साल तक पूरा कर लिया जायेगा. पहले पूरे बिहार में कुल करीब 700 मेगा वॉट बिजली की खपत होती थी. आज हर घर में हमारी सरकार द्वारा बिजली मुहैया कराने के बाद 5500 मेगा वॉट बिजली की खपत होने लगी है.उन्होंने कहा कि हमारी हर यात्रा चंपारण से शुरू होती रही है. बीती छह मई की चुनावी सभा में आप में से कुछ लोगों ने समस्याओं से अवगत कराया था, तब मैंने मैंने आपके यहां दोबारा आने का वादा किया था. इसी के तहत आज 302 करोड़ से अधिक की विविध विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने पहुंचा हूं. इस मौके पर स्थानीय नेताओं के साथ-साथ उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे. सुशील मोदी ने कहा कि एक विधानसभा क्षेत्र में 302 करोड़ तो पूरे बिहार के विकास का आप आकलन कर सकते हैं.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि असमान्य जलवायु परिवर्तन से सबको चिंतित होने की जरूरत है. सबकी सहभागिता से हम पर्यावरण संरक्षा का बड़ा अभियान शुरू करनेवाले हैं. इसको लेकर जागरूक और आप सबकी सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए मिशन जल-जीवन- हरियाली को लेकर हम अपनी अगली यात्रा शुरू करेंगे. इसकी भी शुरुआत मेरे प्यारे चंपारण से ही होगी. इसके बाद मुख्यमंत्री वाल्मीकिनगर के लिए रवाना हो गये.

a2znews