पप्‍पू की चेतावनी : पटना की सड़कों से नहीं हटा कचरा, तो कमिश्‍नर के बंगले पर नजर आयेगा गंदगी का ढेर

 

संवाददाता । पटना।

मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने शनिवार को राज्‍य सरकार और पटना प्रशासन को बड़ी चेतावनी दे देते हुए कहा कि परेशान पटना के लोगों के बीच अब जिस तरीके से नालों से कचरा निकाल फैला दिया जा रहा है, वह बर्दाश्‍त के बाहर की बात है. पटना की पब्लिक बहुत गुस्‍से में है. इस गुस्‍से को समझ लें सभी. नहीं तो मैं जनता के लिए सब कुछ कर दूंगा.यादव ने कहा कि वीआईपी और वीवीआईपी इलाके में जहां कोई समस्‍या नहीं थी, वहां तो दिन-रात ब्‍लीचिंग पाउडर का छिड़काव हो रहा है और मच्‍छड़ भगाने को फॉगिंग भी हो रही है, लेकिन बारिश के बाद जलजमाव से जो पटना परेशान हुआ, वहां अब कचरा फैला आम लोगों को बीमार करने और मारने की व्‍यवस्‍था की जा रही है. उन्‍होंने कहा कि नालों की सफाई के साथ कचरा हटाने की व्‍यवस्‍था क्‍यों नहीं हो रही है और ऐसी व्‍यवस्‍था नहीं करने देने के पीछे कौन लोग हैं.जाप सुप्रीमो ने कहा कि मैं सबों को बता देना चाहता हूं कि वह चौबीस घंटे के भीतर सड़कों पर फैलाए जा रहे कचरे को हटवा लें. यदि ऐसा नहीं किया गया, तो मैं पटना आते ही जनता के साथ जेसीबी (ट्रैक्‍टर से इस कचरे को उठाकर कमिश्‍नर) एडमिनिस्‍ट्रेटर के घर के बाहर रख दूंगा. जनता को बीमारी देने की व्‍यवस्‍था कर हाकिम लोग सुख-चैन की नींद सोएं, यह नहीं होने देंगे.पप्‍पू यादव ने कहा कि पटना की नारकीय व्‍यवस्‍था के खिलाफ जो लोग सड़कों पर उतरकर सरकार से व्‍यवस्‍था की मांग कर रहे हैं, उन पर लाठियां चटकाई जा रहीं हैं और अरेस्टिंग हो रही है, यह बात भी ठीक नहीं है. समझ ले सरकार, आप जनता को विद्रोह के लिए मजबूर कर रहे हैं.

उन्‍होंने कहा कि जनता के समक्ष रखे कचरा को हटाकर मुझे कमिश्‍नर-एडमिनिस्‍ट्रेटर के घर बाहर फेंकने से कोई रोक नहीं पाएगा. जरूरत होगी, तो पटना की जनता के लिए जेल भी चले जायेंगे, लेकिन गूंगी-बहरी व्‍यवस्‍था को शांति से सोने नहीं देंगे.

a2znews