बिहार के नालंदा में मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों के बीच हुई जमकर रोड़े बाजी, 8 जख्मी!

 

संवाददाता । नालंदा।

बिहार के नालंदा में हिलसा अनुमंडल मुख्यालय स्थित मां दुर्गे समेत अन्य देवी-देवताओं की स्थापित प्रतिमाओं का बुधवार की शाम ढ़ोल बाजे के साथ विसर्जन किया गया. संध्या पांच बजे से मूर्ति विसर्जन का सिलसिला शुरू हुआ जो रात्रि एक बजे तक जारी रहा. मूर्ति विसर्जन के दौरान हिलसा थाना के पास पासवान टोली के सामने दो गुटों के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी शुरू हो गयी. देखते ही देखते दोनों ओर से भयंकर रोड़ेबाजी होने लगी।

इधर, थाना पुलिस के साथ अधिकांश पदाधिकारी सिनेमा मोड़, बिहारी रोड, सूर्य मंदिर परिसर ,योगीपुर मोड़ आदि स्थानों पर मौजूद थे. रोड़ेबाजी की सूचना मिलते ही अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मो. इम्तियाज अहमद ,अनुमंडल पदाधिकारी विवेक रंजन मैत्रेय, भूमि सुधार उप समाहर्ता अनिल कुमार सिन्हा ,थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद, प्रखंड विकास पदाधिकारी राजदेव रजक, अंचलाधिकारी अखिलेश प्रसाद शर्मा, शांति सेना के सदस्य अर्जुन प्रसाद विश्वकर्मा, ओम प्रकाश राही, गौरव प्रकाश,सुभाष बाबा समेत बड़ी संख्या में पुलिस पदाधिकारी एवं सुरक्षा बल घटनास्थल पर पहुंची. इसके बाद पदाधिकारियों ने समझा-बुझाकर दोनों पक्ष के लोगों को शांत कराया और सभी घायलों को अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि काजी बाजार में स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमा को विसर्जन के लिए लोग सूर्य मंदिर तालाब में ले जा रहे थे. इसी बीच पासवान टोली गली के सामने असामाजिक तत्वों द्वारा अचानक रोड़े बाजी शुरू कर दिया गया. इस घटना में काजी बाजार मोहल्ला के आधा दर्जन लोग घायल हो गये. जिसमें एक को गंभीर चोटें आयी है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार विसर्जन जुलूस में शामिल लोगों एवं रोड़े बाजी करने वालों के बीच पूर्व से ही विवाद चला रहा था .यदि समय पर पुलिस प्रशासन नहीं पहुंचती तो बड़ी घटना भी घट सकती थी.

a2znews