पटना हाइकोर्ट की निगरानी में पटना जल प्रलय के कारणों की हो जांच : पप्‍पू यादव

 

संवाददाता । पटना।

जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद पप्‍पू यादव ने आज पटना में प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार से मांग की है कि वे राजधानी पटना के लोगों के एक साल का टैक्‍स माफ करें. पप्‍पू यादव ने बीते दिनों बारिश के बाद राजधानी पटना में आई भीषण जल प्रलय को मानव जनित आपदा बताया. उन्‍होंने कहा कि पटना हाइकोर्ट की निगरानी में पटना जल प्रलय के कारणों की जांच हो?

पूर्व सांसद ने कहा कि पिछले पंद्रह वर्षों में बिहार के नगर विकास मंत्री रहे नेताओं, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव रहे अधिकारियों, इस अवधि के दौरान रहे पटना के मेयर, पटना नगर निगम के आयुक्तों का उत्तरदायित्व सुनिश्चित किया जाये, उनकी संपत्ति की जांच हो. आखिर पटना के लोगों को टॉर्चर करने का जिम्मेवार कौन है? नगर निगम के हजारों करोड़ रुपये कहां खर्च हुए, इस पर सरकार श्‍वेत पत्र जारी करे।

पप्‍पू यादव ने कहा कि पटना के आसपास किस राजनेता, अधिकारी एवं माफिया ने पिछले 15 वर्षों में कितनी संपत्ति अर्जित की है. भू माफियागिरी कर कुकुरमुत्तों की तरह शहर बसाने का जिम्मेवार कौन है? पिछले 15 वर्षों में पटना के 20 किलोमीटर के दायरे में जितनी जमीन की रजिस्ट्री हुई है, उसकी जांच हो जाये तो कम-से-कम 100 आइएएस-आइपीएस एवं मंत्री, संसद, विधायक जेल में होंगे. लिहाजा इसकी भी न्यायिक निगरानी में जांच हो।

उन्‍होंने कहा कि पटना के सभी सांसद-विधायक को बताना चाहिए कि पटना के लोगों को सम्मान के साथ जीने का हक हर नागरिक का मौलिक अधिकार है या नहीं. जाप (लो) मुखिया ने कहा कि देश के कानून मंत्री यहां से सांसद हैं. उन्हें नहीं पता कि पटना में जीने का संवैधानिक मौलिक अधिकार छीन लिया गया. यह कितना बड़ा जघन्य अपराध है, इसके एक जिम्मेदार वह भी हैं. क्या उन्हें नैतिक जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए? बिहार की राजधानी पटना में इस हक की धज्जियां उड़ायी गयी है, वैसी व्यवस्था और सरकार को कैसा बख्शा जा सकता है?

पप्‍पू यादव ने कहा कि आज भी कई इलाकों में पानी है और जिन इलाकों से पानी निकल गया है, वहां डायरिया और डेंगू ने लोगों को परेशान कर रखा है. ऐसे में हमने लोगों को डेंगू और अन्‍य दूसरी बिहारियों से बचाने का संकल्‍प लिया है और पटना में राजेंद्र नगर, वैशाली गोलंबर और मलाही पकड़ी में फ्री में इलाज करवा रहे हैं. हम सरकार ने नहीं सेवक हैं, इसलिए सबों की मदद करना मेरा फर्ज हैं।

a2znews