सूखा प्रभावित जिलों के किसानों को प्रति परिवार प्रतिमाह तीन हजार मुआवजा, …जानें कैबिनेट के अन्य फैसले

 

संवाददाता । पटना।

बिहार कैबिनेट की बैठक शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में हुई. बैठक में कुल 19 एजेंडों पर स्‍वीकृति दी गयी. बैठक में सूखाड़ पर विस्तृत चर्चा हुई. साथ ही बताया गया कि प्रदेश के 18 जिलों की 896 पंचायतें सूखाग्रसित हैं. सूखाग्रसित जिलों के किसानों को प्रति परिवार प्रति माह तीन हजार रुपये की दर से मुआवजा दिया जायेगा. इसके लिए कैबिनेट ने 900 करोड़ रुपये भी मंजूर किये।

कैबिनेट की बैठक में आयुष डॉक्टरों को तोहफा दिया है. अब उन्हें डायनेमिक एसीपी का लाभ दिया जायेगा. हर चार साल के अंतराल पर एसीपी का लाभ मिलेगा. मालूम हो कि आयुष डॉक्टरों में यूनानी, होमियोपैथी और आयुर्वेदिक चिकित्सक शामिल हैं. वहीं, जल संसाधन विभाग में ठेके पर काम कर रहे जूनियर इंजीनियरों के मानदेय में बढ़ोतरी की गयी है. यह बढ़ोतरी तीन हजार रुपये प्रतिमाह से लेकर छह हजार रुपये तक की वृद्धि की गयी है. तीन साल से काम कर रहे कनीय अभियंताओं को तीन हजार और छह वर्षों से काम कर रहे अभियंताओं को छह हजार रुपये प्रतिमाह की वृद्धि मानदेय में की गयी है.

a2znews