बिजली की बदहाल हालात को लेकर प्रतिधिमण्डल के साथ विद्युत अधीक्षण अभियंता से मिले अजीत कुमार

 

संवाददाता । मुजफ्फरपुर ।

कांटी – मडवन प्रखंड के विभिन्न ज्वलंत विद्युत समस्याओं को लेकर गुरुवार को उपभोक्ताओं का प्रतिनिधिमंडल पूर्व मंत्री ई0 अजीत कुमार के नेतृत्व में विद्युत अधीक्षण अभियंता रितेश कुमार से मिला । उपभोक्ताओं ने अधीक्षण अभियंता से कहा या तो आप काम कीजिए नहीं तो कुर्सी छोड़ीए। विदित हो की अधीक्षण अभियंता द्वारा 3 माह पूर्व कांटी क्षेत्र के कई विद्युत समस्याओं का त्वरित निदान का देश अधीनस्थ अधिकारी को दिया था । लेकिन 3 माह बाद भी अधिकारी काम करना तो दूर समस्या को संज्ञान में भी नहीं लिया । जिस कारण उपभोक्ता काफी आक्रोशित थे।


इस अवसर पर ई0 कुमार ने क्षेत्र के कई गरीब बस्ती में अभी तक बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं होने, लो वोल्टेज की समस्या, जर्जर संचरण व्यवस्था, अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाने में हो रहे अनावश्यक विलंब, त्रुटिपूर्ण विपत्र के सुधार में आनाकानी तथा अधर में लटका सिंचाई कार्य के लिए अलग से फिडर बनाने के मामला की ओर अधीक्षण अभियंता का ध्यान आकृष्ट कराया। अधीक्षण अभियंता ने प्रतिनिधि मंडल के सभी मांगों को जायज ठहराते हुए कहा कि हम आपके सभी मांगों से सहमत हैं। उन्होंने मौके पर उपस्थित विद्युत कार्यपालक अभियंता, विद्युत सहायक अभियंता पश्चिमी को स्पष्ट निर्देश दिया की आप उपभोक्ताओं के ज्वलंत समस्याओं का 15 दिनों के अंदर निदान करें। इस कार्य में जो भी कठिनाई आएगा मैं उसे दूर करूंगा । अन्यथा कार्य में शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ उन्होंने कठोर कार्रवाई करने की बात कही।


प्रतिनिधिमंडल में शामिल उपभोक्ताओं ने विद्युत अधीक्षण अभियंता से स्पष्ट कहा कि हम लोग अपने समस्याओं के निदान के लिए 15 दिन और इंतजार करेगे । यदि 15 दिनों के अंदर हमारे समस्याओं का कारगर निदान नहीं हुआ तो हम लोग सहायक अभियंता व कार्यपालक अभियंता के कार्यालय में तालाबंदी करेंगे।


वहीं पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि विभाग के अधिकारी सरकार के संकल्प के विपरीत कार्य कर रहे हैं । अधिकारियों को उपभोक्ता का चिंता नहीं है वे केबल संवेदक के चिंता में परेशान है। इसी का परिणाम है की अधीक्षण अभियंता के आदेश को नीचे के अधिकारी रद्दी की टोकरी में डाल देते हैं और उपभोक्ता खासे परेशान हो रहे हैं। उन्होंने कहा किस समय बदला है यदि अधिकारी इन चीजों को नहीं समझेंगे तो उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा की काँटी- मडबन में 3 दर्जन से अधिक गरीब बस्ती में अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाना है जिसके लिए विभाग के द्वारा 3 माह पूर्व आदेश भी निर्गत किया जा चुका है लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। जो चिंता का विषय है।


प्रतिनिधिमंडल में सुनील शर्मा, मोहम्मद आजाद, मोहम्मद जुम्मन, नागेंद्र गिरी ,भूषण सिंह, जय किशन कुमार चौहान, वार्ड पार्षद शंकर महतो, पवन सिंह, राजू पासवान, अभिषेक पासवान ,राहुल कुमार, बमबम शाही ,शैलेन्द्र त्रिवेदी चुनचुन सिंह ,सुजीत कुमार, नित्यानंद, लड्डू साह आदि शामिल थे ।

a2znews