जमुई में कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर इलाज करवाने का CS ने दिया निर्देश

*पोषण माह को लेकर सिविल सर्जन ने की समीक्षात्मक बैठक

*पोषण माह को लेकर कई कार्यक्रम का होगा आयोजन

*गर्भवती महिलाओं के लिए लगाया जाएगा कैंप

मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)।

गुरुवार को सदर अस्पताल के आईसीडीएस के सभागार में पोषन माह में होने वाले कार्यक्रम को सफल बनाने को लेकर बैठक आयोजित की गई।बैठक की अध्यक्षता सिविल सर्जन डा. श्याम मोहन दास ने की।

बैठक में बताया गया कि 1 से 30 सितंबर तक जिले में पोषण माह मनाया जाएगा। इसके लिए कई विभाग अपने-अपने स्तर से कार्य को अंजाम दे रहे है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग भी अपने स्तर पर जिले में पोषण माह को लेकर कार्यक्रम आयोजित कर रही है।सबसे पहले जिले के सभी कुपोषित बच्चों को पहचान कर उनका सूची बनाएं। साथ ही उक्त बच्चों को इलाज के लिए संबंधित स्वास्थ्य केंद्र में भी लाने का कार्य करें।उन्होंने यह भी कहा कि गर्भवती महिलाओं के लिए कैंप का आयोजन करें।उक्त कैंप में गर्भवती महिलाओं का हिमोगलोबीन जांच करें।

जांच के उपरांत गंभीर एनीमिया वाली महिलाओं को आयरन की गोली खिलाने का भी निर्देश दिया गया। साथ ही बैठक में सभी आंगनबाड़ी केंद्र, जीविका एवं आशा कार्यकर्ताओं की सहयोग से पोषण माह के दौरान प्रचार-प्रसार करने का भी निर्देश दिया गया।यह भी बताया गया कि पोषण माह के दौरान सरकारी एवं सरकारी अुनदान प्राप्त विद्यालयों और महाविद्यालयों,समुदाय स्तर पर आरोग्य दिवस, स्वास्थ्य संस्थान, आंगनबाड़ी केंद्र, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, स्थानीय मेला, हाट आदि महत्वपूर्ण स्थल पर कैंप किया जाएगा।ईस अवसर पर एसीएमओ डा. विजयेंद्र सत्यर्थी, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. विमल कुमार चौधरी, केयर इंडिया के संजय कुमार, डा. आफताब आलम, कुमार पंकज, डा. मनीष, डा. अमित आनंद,मो.शमीम अख्तर सहित कई स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

a2znews