स्पॉट : थमने का नाम नहीं ले रहा जमुई रेलवे स्टेशन पर आपराधिक घटना

*रेल पुलिस की लापरवाही हो रही उजागर

मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)।

जमुई रेलवे स्टेशन पर जीआरपी थाना होने के बावजूद आये दिन आपराधिक घटना पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।अपराधी पूरी तरह बेखौफ हो चुके हैं।बताते चलें कि जमुई स्टेशन पर छिनतई,चोरी जैसी घटनाएं तो आम हो चुकी हैं।प्रत्येक दिन पॉकेटमार स्टेशन पर पकड़े जा रहे हैं लेकिन फिर भी यात्रियों की सुरक्षा के कोई पुख्ता इन्तेज़ाम रेल प्रशाशन द्वारा नहीं किया गया है।यात्रियों की माने तो रेलवे स्टेशन पर सही ढंग से लाइट नहीं रहती है जिससे अपराधी किसी भी वारदात को अंजाम देकर आसानी से निकल जाते है।

आश्चर्य की बात तो यह है कि रेलवे सटेशन के दोनों प्लेटफॉर्म पर रेल पुलिस तैनात रहती है इसके बावजूद जीआरपी और आरपीएफ के नाक के नीचे से अपराधी घटना को अंजाम देकर फरार हो जाता है और घटना की थोड़ी से भनक भी सुरक्षाकर्मी को नहीं लगती है।ताजा मामला मंगलवार की सुबह रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नम्बर एक पर देखने को मिला जहां सदर थाना क्षेत्र के ब्रुअट्टा गांव निवासी बेचन मंडल की काजल कुमारी की निर्मम हत्या कर शव को फेंक दिया गया और इसकी भनक तक कुम्भकर्णी निन्द्रा में सोए रेल पुलिस को नहीं लगी।

अगर रेल पुलिस जगी हुई होती तो शायद अपराधी इतनी बड़ी वारदात को अंजाम नहीं दे पाती।हालांकि काजल हत्याकांड मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए नामजद दो आरोपित सूमा देवी और खुशबू देवी को देर शाम गिरफ्तार कर लिया है जबकि मुख्य आरोपित कुंदन फिलहाल पुलिस गिरफ्त से फरार है।

a2znews