जल-जीवन-हरियाली से बदलेगा जिले का मौसम

नरेंद्र । पहाड़पुर पू.च.।

मौसम में आ रहे बदलाव में सुधार के लिये बुधवार को पहाड़पुर 10+2 विद्यालय के प्रान्गण मे जिलापदाधिकारी रमन कुमार की अध्यक्षता में जल-जीवन-हरियाली/ तरल एवं ठोस कचरा से संबंधित कार्यशाला का आयोजन हुआ। विद्यालय प्रांगण मे जिला पदाधिकारी ने पलदार पौधा लगा कर कार्यशाला का शुभारम्भ किया। कार्यशाला मे मौजूद जनप्रतिनिधि और छात्र -छात्राओ को संबोधित करते हुये जिला पदाधिकारी ने कहा कि जल और हरियाली रहेगी तभी जीवन की कल्पना की जा सकती है। बिहार पहला ऐसा राज्य है, जहां जल-जीवन-हरियाली की शुरुआत की गयी है। इसके तहत जिले में जितने भी सार्वजनिक तालाब, आहर, हैं उन्हें जिर्णोंद्घार एवं पुर्नजीवित करना है।

साथ ही सभी पंचायतों मे अधिक से अधिक पौधरोपण भी कराया जाना है। डीएम ने कहा कि जल संरक्षण करने के लिये सार्वजनिक स्थानों पर सोख्ता का निर्माण कराया जायेगा। जिन सार्वजनिक जल श्रोतों जैसे तालाब, आहर, इत्यादि जल संरक्षक का अच्छ माध्यम है इसे बचाने की जरुरत है लोगों के अंदर जागरूकता पैदा कर जल जीवन और हरियाली को बचाया जा सकता है। ठोस और तरल कचरा इधर उधर फेकने से विभिन्न प्रकार की बीमारी होती है जरुरत है हर गाँव टोले मे डस्टबीन मे कचरा डाला जाये। सात निश्चय योजना की हुई समीक्षा में सात निश्चय से संबंधित नल जल और नाली गली की समीक्षा की गयी।

समीक्षा के दौरान बीडीओ को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि योजनाओं का नियमति रूप से अनुश्रवण करना सुनिश्चि करें। ताकि योजनाओं को गुणवत्ता पूर्वक पूर्ण कराया जा सकें। योजना की गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु बीडीओ अपने स्तर से कनीय अभियंता को तकनीकी पर्यवेक्षण के लिये निर्देशित करेंगे। वित्तीय वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 में हुए कार्य की जो पूर्ण एवं गुणवत्तापूर्ण नहीं पाये जाते हैं तो संबंधित दोषियों को चिह्नित कर कारवाई किया जायेगा। मंच संचालन नित्यानन्द पाण्डेय ने किया ।इस अवसर पर अरेराज अनुमंडल पदाधिकारी धीरेन्द्र कुमार मिश्रा आलोक कुमार पहाड़पुर प्रमुख राजू प्रसाद जिला पार्षद ध्रुव चौरसिया विश्वनाथ प्रसाद बीडीओ आदित्य नारायण दीक्षित सीओ अभिषेक आनंद मनरेगा पीओ राहुल कुमार मुखिया सुभाष कुमार आर्य शंभू महतो मंडल जी आदित्य नरायण सिंह कैलाश प्रसाद सरपंच रमाशंकर प्रसाद सहित प्रखंड के जनप्रतिनिधि सहित विभिन्न विभागों के कर्मी मौजूद थे।

a2znews