रेलवे ने तैयार की अपनी कमांडो फोर्स कोरस,दिल्ली-मुंबई जैसे स्टेशनों की करेगी सुरक्षा

 

संवाददाता। नई दिल्ली।

रेलवे ने यात्रियों और अपनी संपत्ति की सुरक्षा के लिए अपनी कमांडो फोर्स तैयार की है, जो आतंकी हमलों से लेकर नक्सली हमलों तक से निपटने में सक्षम है। इसका नाम कमांडोज फॉर रेलवे सेफ्टी (कोरस) है। इसे रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स की तर्ज पर बनाया गया है। कोरस की पहली बटालियन को बुधवार काे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे को समर्पित किया।


रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरुण कुमार ने बताया कि कोरस की पहली तैनाती नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ में होगी। उन्होंने बताया कि कोरस कमांडो के प्रशिक्षण के लिए हरियाणा के जगाधरी शहर में एक अत्याधुनिक संस्थान बनाया जाएगा। कोरस ऐसे क्षेत्रों में तैनात होगी, जहां रेलवे की बड़ी परियोजनाएं चल रही हैं। इन जगहों में पूर्वोत्तर और जम्मू-कश्मीर शामिल हैं।’


फोर्स में महिला और पुरुष मिलाकर 1200 कमांडो हैं। कमांडो ने माॅक ड्रिल भी की। इसमें कोरस को सूचना दी गई कि एक कोच में कुछ वीवीआईपी को आतंकियाें ने बंधक बना लिया है। कंमाडो ने 12 मिनट में बंधकों को छुड़ा लिया। इस मौके पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद यादव ने कहा कि पूरी तरह से आधुनिक हथियारों से लैस कोरस के जवान आरपीएफ की आर्म्ड बटालियन आरपीएसएफ यानी रेलवे प्रोटेक्शन सिक्योरिटी फोर्सेज से अलग होंगे।

a2znews