चंपारण में 3 दिनों से जारी है मुसलाधार बारिश,नदियां उफनाई

मोतिहारी । अशोक वर्मा।

जिले में तीन दिनो से लगातार वारिस होने से आम जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है।विलंब से धान रोपनी मे लगे किसान फिर से तंग तबाह हो रहे है।खेतों मे अधिक जल जमाव के कारण रोपनी का काम ठप है।बडे बाढ की संभावना प्रवल होती जा रही है।अगर वर्षात की स्थिति यही रही तो चंपारण के किसान कहीं के नहीं रहेंगे।भ्रष्ट व्यवस्था मे बर्बाद किसानो को राहत मिलना संभव हीं नही होगा।बाढ प्रभावित क्षेत्रो के चयन मे अनियमितता के कारण हजारो किसान धरना प्रदर्शन पर उतर आये है।मरता क्या नहीं करता के तर्ज पर चारो ओर आक्रोश भडकता जा रहा है।शहर की स्थिति भी भयानक है ।

आधे से अधिक दुकाने बंद है।चारो ओर जल जमाव है।सरकारी दफ्तरो के परिसर मे भारी जल जमाव है।पोस्ट आफिस का द्वार जल जमाव से जूझ रहा है।मोतीझील मे जल स्तर बढता जा रहा।शहर के मुहल्लों की स्थिति और भी नारकीय है।नगर परिषद के कई टैंकर जल जमाव वाले मुहल्लों से लगातार पानी निकालने मे लगे हुये हैं,लेकिन त्रूटी पूर्ण नाला निर्माण के कारण उल्टा बहाव हो रहा है ,और जल जमाव तथा निकासी बडी समस्या बनती जा रही है।नाला पर अतिक्रमण के कारण भी जल निकासी नही हो पा रही है।मुख्य पथ के नाले का वजूद हीं समाप्त हो चुका है।

a2znews