मसौढ़ी के कश्मीरगंज में डायरिया से फिर एक की हुई माैत, 4 दिनों में दाे की गई जान,अस्पताल में 95 भर्ती

संवाददाता । मसौढ़ी(बिहार)।

शहर के कश्मीरगंज मोहल्ले में डायरिया से पीड़ित 30 वर्षीय दिव्यांग मो. परवेज आलम की बुधवार की सुबह इलाज के दौरान पीएमसीएच में मौत हो गई। इलाके में डायरिया से यह दूसरी मौत है। चार दिन पहले 80 वर्षीय सायरा बानो की मौत हुई थी। मृतक परवेज स्थानीय मोहल्ले के निवासी मो. रउफ मियां का पुत्र था। उसका घर कई वर्षों से जमा कूड़े अाैर जलजमाव के एकदम पास है।

कूड़े-कचरे के बीच से ही नल जल योजना का पाइप गया है। इससे पानी में भी गंदगी आती है, जिसे लाेग पीने काे मजबूर हैं। परवेज को बीते सोमवार को मसौढ़ी अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से चिकित्सकों ने गंभीर हालत में उसी दिन पीएमसीएच रेफर कर दिया था, जहां रविवार की सुबह उसकी मौत हो गई।

इधर, डायरिया से दो की मौत से मोहल्ले में हड़कंप मच गया है। कश्मीरगंज में भारी जलजमाव व दूषित पानी के सेवन से डायरिया की चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मरीजों की संख्या बढ़कर 95 हो गई। अनुमंडलीय अस्पताल में बुधवार को 4 नए मरीजों को भर्ती कराया गया। इनमें बेबी देवी (40 वर्ष ), नेहरू निशा (70 वर्ष), मो. समर (9 वर्ष) अाैर नेहा कुमारी (10 वर्ष) शामिल हैं। फिलहाल सभी मरीजों का इलाज अनुमंडलीय अस्पताल में चल रहा है।

लोगों ने चारों तरफ बना लिया है घर, नहीं निकल रहा पानी:

डायरिया का प्रकाेप हाेने के बावजूद नगर परिषद अब भी सोई हुई है। वार्ड पार्षद सगुफ्ता परवीन ने कहा कि उनके मोहल्ले में अब भी कई लोग इस बीमारी की चपेट में हैं। मोहल्ले के एक खंडहरनुमा जमीन पर वर्षों से जमा नाले के बदबूदार पानी से अस्पताल से ठीक होकर घर आने वाले मरीजों को राहत नहीं मिल रही है। वो दोबारा बीमारी पड़ जा रहे हैं।

नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी किशोर कुणाल ने बताया कि जिस जगह पर वर्षों से नाले का पानी जमा है उसकी निकासी फिलहाल संभव नहीं है। उसकी चारों तरफ लोगों ने घर बना लिया है। फिलहाल पंप से जलजमाव को कुछ हद तक दूर करने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए रैयती जमीन मालिकों से जमीन देने के लिए राजी किया जाएगा। अगर वो इसके लिए राजी हो गए तो नाली निर्माण का कार्य तुरंत शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि फिलहाल पूरे इलाके की पूर्ण रूप से सफाई की जा रही है।

सिविल सर्जन ने कहा-भेजे गए थे डॉक्टर, फिर भेजी जाएगी टीम:

सिविल सर्जन डॉ. राजकुमार चौधरी ने कहा कि सूचना मिली है कि डायरिया से अबतक दो लोगों की मौत हो चुकी है। 100 से अधिक लोग ग्रसित हैं। पीड़िताें की संख्या बढ़ने की खबर आ रही है। पूरे मामले की रिपोर्ट ले रहे हैं। कुछ दिन पहले भी वहां से डायरिया की शिकायत मिली थी। दूषित पानी की वजह से ऐसा हो रहा है।

कई जगहों पर पाइप फट गया है, इस वजह से दूषित पानी ही लोग पी रहे हैं। दूसरा एक कारण यह भी है कि इलाके में गंदगी भी बहुत है। कुछ दिन पहले भी हमारे चिकित्सकों की टीम वहां पर गई थी। लोगों को साफ-सफाई के लिए विशेष तौर पर सतर्क रहने के लिए जागरूक भी किया गया था। हमारी पूरी तैयारी है। हमारी टीम वहां पर चिकित्सकों के साथ जाएगी। किसी भी तरह से कोई दिक्कत नहीं होने दिया जाएगा।

डाॅक्टर ने कहा-बीमारी की मुख्य वजह गंदगी:

अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. हरिचंद्र हरि ने बताया कि कश्मीरगंज मोहल्ले में जलजमाव डायरिया फैलने की मुख्य वजह है। मोहल्ले में जलजमाव वाली जगह से नल जल का पाइप गया है जिससे पीने का पानी दूषित हो गया है। जलजमाव की जबतक निकासी नहीं की जाती तबतक इस मोहल्ले से उक्त बीमारी पर लगाम लगाना कठिन है।

अभी सोच ही रहे:

अस्पताल से इलाज करा कर लौटने के बाद फिर बीमार पड़ जा रहे लोग

नगर परिषद ने कहा-पंप लगाकर पानी निकालने का किया जाएगा प्रयास

आसपास के लोगों ने दी जमीन तो जल्द शुरू होगा नाला निर्माण का काम

a2znews