BREAKING:उपराष्ट्रपति ने किया बेतिया के गौरव कुमार द्वारा लिखित पुस्तक ‘शासन से सुशासन की ओर’ का लोकार्पण

संवाददाता । नई दिल्ली/मोतिहारी।

उपराष्‍ट्रपति श्री एम. वैंकेया नायडू ने गौरव कुमार द्वारा लिखित पुस्तक ‘शासन से सुशासन की ओर’ का दिनांक 9 जुलाई 2019 को उपराष्ट्रपति भवन, नई दिल्‍ली में लोकार्पण किया। श्री गौरव कुमार बेतिया लोक सभा क्षेत्र के रामगढ़वा मौजे ग्राम निवासी श्री राजकिशोर मिश्र के तृतीय पुत्र हैं। उनकी पुस्तक का लोकार्पण महामहिम उप राष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू द्वारा किया जाना पूरे बिहार के लिए गर्व का विषय है और सौभाग्यशाली क्षण है। गौरतलब है कि श्री गौरव कुमार विगत पांच वर्षों से केंद्र और राज्य सरकारों में लोकनीति विशेषज्ञ के तौर पर नीति निर्माण प्रक्रिया और क्रियान्यवयन पर बेहतरीन काम कर रहे हैं। उन्होंने विगत वर्ष हरियाणा में सुशासन लाने की दिशा में काफी कुछ काम किया था। जिससे शासन में पारदर्शिता और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में काफी मदद मिली थी। इस उपलब्धि के लिए उन्हें क्वालिटी काउंसिल ऑफ़ इंडिया तथा विजन इंडिया फाउन्डेशन द्वारा यंग अचीवर अवार्ड दिया गया।


पुस्तक के विषय में पूछे जाने पर श्री गौरव कुमार ने दूरभाष पर बताया कि यह पुस्तक देश में शासन के बदलते स्वरुप पर प्रकाश डालती है। जिसमें यह दर्शाया गया है कि आधुनिक लोकतंत्र और सभ्य समाज में शासन का तात्पर्य क्या होता है।देश के शासन व्यवस्था का जो स्वरुप ब्रिटिश काल में था। वह किस प्रकार धीरे धीरे बदला और भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में आने के बाद विगत पांच वर्षों में शासन कैसे सुशासन के रूप में परिवर्तित हुआ है। पुस्तक की रचना में उन्हें निरंतर अग्रज सुबोध कुमार मिश्र का मार्गदर्शन और प्रेरणा मिलती रही है। जिसका उल्लेख करते हुए वे बताते हैं कि वे जो कुछ हैं उनकी प्रेरणा और मार्गदर्शन की वजह से हैं।यही कारण है कि बिहार के एक पिछड़े क्षेत्र का युवा आज देश की राजधानी में अपनी योग्यता के बल पर सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों को प्रभावित प्रसारित करने की क्षमता रखता है।

पुस्तक लोकार्पण के इस अवसर पर अनुसूचित जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष सुश्री अनुसुईया उइके, श्री अजय आनन्द, श्रीमती प्रिया श्रीवास्तव, श्रीमती प्रियंका कुमारी, श्री केशव कुमार, श्री आशीष कुमार अंशु, सहित कई गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।
‘शासन से सुशासन की ओर’, 2014 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद देश में शासन व्यवस्था का सुशासन के रूप में बदलते स्वरूपों पर प्रकाश डालती है। जिसमें सत्ता पक्ष के साथ समाज और नागरिक भागीदारी से जुड़े सभी आयाम शामिल किए गए हैं। श्री गौरव कुमार ने अपनी इस पुस्तक में सुशासन से जुड़े सभी आयामों को शामिल किया है और सुशासन के भविष्य की बात भी की है। जिसमें उन्होंने कुछ चुनौतियों का ज़िक्र करते हुए उनके समाधान का रास्ता सुझाया है।


‘शासन से सुशासन की ओर’ पुस्तक में श्री गौरव कुमार ने अपने अनुभवों को भी साझा किया है जो उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ काम करने के दौरान सीखा और समझा है।

लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान अपने सम्बोधन में श्री गौरव कुमार ने पुस्तक की विषय वस्तु से माननीय उप राष्ट्रपति को अवगत कराया। जिस पर उप राष्ट्रपति ने पुस्तक के विषय की सराहना की।

a2znews