BREAKING:सोमेश्वर बाबा नगरी में DM ने किया “चंपारण के अर्पण” का शुभारंभ

 

* राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर रेखांकित करने का होगा प्रयत्न।

नरेन्द्र । अरेराज (पूर्वी चम्पारण)

अरेराज बाबा श्री सोमेश्वर नाथ महादेव की पावन नगरी के बुधवार का दिन यादगार दिन बन गया। जब पूर्वी चंपारण के डीएम द्वारा चंपारण के अर्पण कार्यक्रम के अंतर्गत सभी वर्गों की जनता से संवाद बनाकर बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव की नगरी की सर्वांगीण विकास हेतु गहन चिंतन-मनन तथा विचार-विमर्श किया गया।

पूर्वी चम्पारण जिला पदाधिकारी श्री रमन कुमार के द्वारा स्थानीय अरेराज नगर पंचायत के नगर भवन के सभागार में चंपारण को अर्पण कार्यक्रम के तहत मंदिर के महंत,व्यवसायिक वर्ग,निजी विद्यालयों के संचालक, अधिवक्ताओं, आमजनों से संबंध स्थापित किया तथा इस प्रसिध्द पौराणिक बाबा सोमेश्वर नाथ की नगरी के सर्वांगीण विकास हेतु नव बिंदुओं पर विचार-विमर्श किया गया।इस अवसर पर अरेराज अनुमंडल पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार मिश्रा ने पर्यटन के मानचित्र पर इसे रेखांकित करने में हर तरह से सहयोग का वचन दिया ।

पूर्व में भी अरेराज अनुमंडल पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार मिश्रा ने अरेराज नगर पंचायत व बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव की नगरी को विकसित करने और सुंदर बनाने में कार्यरत रहे हैं।बाबा के नगरी में आने वाले श्रद्धालुओं को बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने,उन्हें “अतिथि देवो भाव:” के रूप में आदर देने पर विचार विमर्श किया गया तथा इसे सर्व समिति से इसकी स्वीकृति दी गई। दूसरा बिंदु और इसकी संरचना पर विचार-विमर्श हुई और हरा-भरा अरेराज,स्वच्छ अरेराज,विकास उन्मुख अरेराज को धरातल पर उतारने पर बल दिया गया। वहीं वर्षा की कमी को देखते हुए वर्षा के जल को संचय करने के लिए नई तकनीक अपनाने तथा कार्य पूरा करने पर चिंतन-मनन हुआ। जल ही जीवन है इस अवधारणा को समझना है तथा जल को बचाना है।बल्कि बाबा श्री सोमेश्वर नाथ महादेव द्वादश ज्योतिर्लिंग में नहीं आते हैं तथा अमरनाथ व पशुपतिनाथ की भांति करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था,विश्वास,श्रद्धा के प्रतीक हैं तथा जन-जन के आराध्य हैं। इसलिए इस नगर को अतिक्रमण से मुक्त रखना है और यहां चौड़ी सड़कों का जाल बिछाना है। इतना ही नहीं यहां यातायात की उत्तम व्यवस्था अपेक्षित है तथा इस स्थल को राष्ट्रीय स्थल के रूप में विकसित करने के लिए समय-समय पर इसके महत्व को समाचार,लेख,फीचर द्वारा प्रकाशित होते रहना चाहिए ताकि इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा लोग जान सकें। यह नगर आकर्षक,दिव्य बन सके इसके लिए यहां की जनता,जनप्रतिनिधि,नगर पंचायत के अधिकारी तथा प्रशासन की सहयोग की अपेक्षा है। इतना ही नहीं प्रशासन की तरफ से विधि व्यवस्था सुनिश्चित होना चाहिए ताकि यहां आने वाले श्रद्धालु अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकें।

साथ ही अरेराज सही ढंग से विकसित,सुंदर,हरियाली युक्त,साफ-सफाई से युक्त हो सके इसके लिए सभी वर्गों के लोगों को संकल्पित होना पड़ेगा। चंपारण को अर्पण कार्यक्रम ने उपस्थित लोगों में अरेराज अनुमंडल पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार मिश्रा यूनिसेफ शशि भूषण पांडेय,नगर पंचायत पदाधिकारी संदीप कुमार, अरेराज रजिस्टार सुनील कुमार,लोक जन शिकायत पदाधिकारी अमित कुमार,अरेराज मंदिर महंत,आलोक ऋषि,हैप्पी श्रीवास्तव,बुलेट शुक्ला,अरविंद शुक्ला,पिंटू श्रीवास्तव,लंबू मिश्रा,मनोज कुमार,जितेंद्र पांडेय,ज्वाला शर्मा,लोकेश कुमार,भुपन पटेल,राधा प्रसाद भगत,पंकज शुक्ला,विनोद शर्मा,मसु शर्मा सहित सभी वर्गों के सैकड़ों लोग चंपारण को अर्पण कार्यक्रम में उपस्थित थे।

a2znews