पूर्णिया के रामनगर में फंदे से लटकी मिली मां और दो वर्षीया बेटी की लाश

संवाददाता। पूर्णिया (बिहार)।

बिहार के पूर्णिया में मरंगा थाना क्षेत्र के रामनगर मोहल्ले में एक बंद कमरे से मां और उसकी दो वर्षीया बेटी की लाश फंदे से लटकी पायी गयी। परिजनों को यह भनक तब मिली जब मंगलवार की दोपहर मृतका के पति ने दरवाजा तोड़ कर अंदर प्रवेश किया। मृतका सूरज राय की पत्नी भारती देवी व उसकी बेटी नैना है। घटना के बाद मृतका के मायके से काफी संख्या में लोग घटना स्थल पर पहुंचे और हंगामा करने लगे।घटना की सूचना मिलने पर मरंगा थानाध्यक्ष मुकेश मिश्रा घटनास्थल पर पहुंचे और शव को बरामद किया।

उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया यह आत्महत्या का मामला प्रतीत होता है। वैसे पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि यह मामला आत्महत्या है या हत्या। पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। अभी तक घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। वैसे मृतका के परिजन ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं। मृतका के पति सूरज राय ने बताया कि उनके घर में पत्नी, बेटी के आलावा उनके मां-पिता रहते हैं। मंगलवार को वे किसी काम से बाहर निकले थे। उनके माता-पिता भी नहीं थे।घर में उसकी पत्नी और बेटी सिर्फ थी। वह जब दोपहर घर पहुंचे तो पत्नी का कमरा अंदर से बंद था।दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब नहीं खुला तो उन्होंने किसी तरह धक्का देकर दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुए। अंदर का दृश्य देख वे भौंचक रह गये।उसकी पत्नी और बेटी पंखे से लगे फंदा से लटक रही थी।इसकी सूचना उन्होंने पत्नी के मायकेवालों को दी।

मायकेवालों ने कहा- सास से अक्सर होती थी कहा-सुनी:

रामनगर की घटना के पीछे कहीं संपत्ति विवाद तो नहीं है। मृतका के मायके वालों का आरोप है कि पूर्व से ही उसकी बेटी और सास के बीच अक्सर कहासुनी होती रहती थी।कहते हैं कि रामनगर के मकान में मायके वालों ने भी सहयोग किया था लेकिन सास अक्सर धमकी देती रहती थी कि यह संपत्ति वह अपनी बेटी के नाम कर देगी। इसी बात को लेकर सास व पुत्रवधू के बीच विवाद चल रहा था. इन लोगों ने बताया कि एक दिन पूर्व भारती देवी के कमरे में सास द्वारा ताला लगाये जाने के बाद मामला मरंगा थाना पहुंचा।भारती देवी ने मरंगा पुलिस को आवेदन देकर सास के विरुद्ध कार्रवाई की गुहार लगायी थी। जबकि सास अनिता देवी ने बताया कि मृतका निकट के एक निजी स्कूल में काम करती थी, जहां माहौल ठीक नहीं रहने से उसे काम से छुड़ा दिया गया। इसी बात के गुस्सा से उसने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली।


2014 में हुई थी शादी परिजनों ने बताया कि वर्ष 2014 में सूरज के साथ भारती की शादी हुई थी।शादी के बाद एक पुत्री हुई, जो दो वर्ष की थी।बताया गया कि पति से मृतका का संबंध मधुर था जबकि सास-ससुर से नहीं पटती थी. मृतका के ससुर को शराब की लत है। सूरज कचहरी में अधिवक्ताओं को पानी पिलाने का काम करता है और विवाह के मौसम में केटरर का काम किया करता था। सूरज ने बताया कि वह तीन दिनों से विवाह के काम में घर से बाहर था। उसने स्पष्ट कहा कि उसकी मां से पत्नी की नहीं बनती थी।उन्होंने कहा कि पत्नी के कमरे में मां के द्वारा ताला लगाये जाने से विवाद बढ़ गया था। उसने बताया कि उन्हीं के द्वारा कमरे का दरवाजा खोला गया और देखा कि उसकी पत्नी व बच्ची सिलिंग फेन से लटकी हुई मृत थी।

a2znews