BREAKING:बच्चों की मौत पर सियासत,”हम” हुई हमलावर,बोली: सरकार गंभीर नहीं स्वास्थ्य मंत्री दें इस्तीफा!

 

संवाददाता । पटना(बिहार)।

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री ने चमकी औरतेज बुखार से एक सप्ताह में 30 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है। जबकि, इस सीजन में अब तक इससे पीड़ित करीब 85 बच्चे अस्पताल पहुंच चुके हैं। 26 बच्चों को एक्टूड इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस)की भी पुष्टि हो चुकी है।इससे भी 8 बच्चों की मौत हो चुकी है।


बीएल वैश्यन्त्री ने राज सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस बीमारी को लेकर राज्य सरकार गंभीर नहीं है । इतनी बड़ी संख्या में हुई बच्चों की मौत पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए बच्चों की मौत पर उनके परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की । उन्होंने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री से इस बीमारी को गंभीरता से लेते हुए विशेष जांच दल बुलाकर इस बीमारी पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है । उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार जब जानती है कि हर साल इस बीमारी के प्रकोप से बच्चों की मौत होती है । जिसके कारण बहुत से बच्चे काल के गाल में समाजाते हैं ‌। उसके बावजूद आज तक समुचित इस बीमारी पर रोकथाम के लिए कोई पहल नहीं हुई । यह हम सभी के लिए बहुत बड़ी चिंता का विषय है ।


बीएल वैश्यन्त्री ने बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय एवं बिहार से केंद्रीय राज्य स्वास्थ्य मंत्री अश्वनी चौबे से इतनी बड़ी संख्या में हुई बच्चों की मौत पर इस्तीफे की मांग की है और कहा कि अगर इन दोनों मंत्रियों के रहते इतनी बड़ी संख्या में बच्चों की मौत कहीं ना कहीं इन मंत्रियों द्वारा कर्तव्य निर्वहन में बहुत बड़ी चूक है । इस चूक को शिकार करते हुए दोनों मंत्रियों को स्वत अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए ।बीएल वैश्यन्त्री ने कहा की बिहार में एक तरफ गंभीर बीमारी से बड़ी संख्या में बच्चों की मौत हो रही है और वही दूसरी तरफ केंद्रीय राज्य स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे अभिनंदन समारोह में भाग ले रहे हैं । इससे यही साबित होता है कि देश और राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था भगवान भरोसे है l सत्ता में बैठे राजनेताओं को सिर्फ अपने गद्दी और अभिनंदन समारोह से समय मिले तो न गरीब जनता के स्वास्थ्य की चिंता हो ।

a2znews