बोले नीतीश,पति-पत्नी की सरकार ने बिहार को किया बरबाद

संवाददाता ।फतुहा / मसौढ़ी(बिहार)।

पति-पत्नी की सरकार ने बिहार को बरबाद किया है।वे फिर से बिहार को लालटेन युग में ले जाना चाहते हैं. ऐसे लोगों के लिए उनका परिवार ही सबकुछ है।उक्त बातें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फतुहा प्रखंड के उष्फा हाईस्कूल मैदान में शुक्रवार को एनडीए के पटना साहिब से बीजेपी उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहीं।मुख्यमंत्री ने सरकार के कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार के लोग अब रोशनी में रह रहे हैं। हर घर में बिजली, पानी, शौचालय पहुंचाया गया है।आज बच्चे-बच्चियां स्कूल जा रहे हैं। छात्रवृत्ति, पोशाक, साईकिल योजना का लाभ मिल रहा है।उन्होंने कहा कि जब घर की महिलाएं शिक्षित होंगी, तो परिवार भी शिक्षित होगा और जनसंख्या नियंत्रण भी होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि जात व मजहब के नाम पर हंगामा खड़ा कर कुछ लोग सता प्राप्त करना चाहते हैं। संविधान के विषय में कोई जानकारी नहीं रखनेवाले आज घूम-घूम कर संविधान संकट की बात कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया है, यह सम्मान की बात है।

लालू पर बोला हमला:

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को जेल में रखे जाने के आरोप पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू परिवार पर हमला बोला।उन्होंने कहा कि आरोप लगाया जाता है कि हमलोग आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को जेल में रखे हैं। यह उनकी करनी का फल है। उन्होंने केंद्र सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा बिहार की सड़कें बनाने में डंबल इंजन की सरकार अच्छा काम कर रही है। बिहार में चारों ओर विकास हो रहा है। एनडीए की केंद्र और राज्य सरकार ने हर तबके का विकास किया है लेकिन, विपक्षी जात-पात की राजनीति कर नफरत फैलाने का कार्य कर रहे हैं।

आरक्षण पर बोले मुख्यमंत्री:

मुख्यमंत्री ने आरक्षण को लेकर कहा कि हमारी सरकार ने पंचायतों में आरक्षण दिया।आरक्षण का लाभ भी हुआ। उन्होंने कहा कि पंचायत और नगर निकायों के चुनाव में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देकर हमने महिलाओं को मान-सम्मान दिया है।एनडीए उम्मीदवार की जमकर तारीफ की मुख्यमंत्री ने पटना साहिब के उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि मैं हमेशा कहता था कि इन्हें लोकसभा में जाना चाहिए।अब इन्हें लोकसभा में भेजने का समय आ गया है। इसलिए कमल छाप के निशान पर एक-एक वोट देकर रविशंकर प्रसाद को लोकसभा में भेजें।उन्होंने महिलाओं से कहा कि जिनके पति आपके कहने पर वोट नहीं दें, उन्हें उपवास रखने की सलाह दी। मुख्यमंत्री ने रविशंकर प्रसाद के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आज फेसबुक और व्हाट्सअप चलानेवाले युवाओं से कहा कि यह केंद्र सरकार डिजिटल क्रांति है। उन्होंने जनता को विश्वास दिलाया कि आगे भी हर क्षेत्र से जुड़ कर रहेंगे और हर क्षेत्र का विकास करेंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि पटना साहिब के उम्मीदवार को जिता कर देश के टॉप टेन की सूची में बिहार को रखें।

विपक्ष के शराब की खुलेआम बिक्री पर ली चुटकी:

नीतीश कुमार ने विपक्ष के शराब की खुलेआम बिक्री पर चुटकी लेते हुए कहा कि राज्य में शराबबंदी को लेकर बनाये गये मानव शृंखला में मेरे साथ हाथ में हाथ जोड़ खड़े लोग भी आज मजाक उड़ा रहे हैं। उनकी पार्टी विरोध में बोल रही है जबकि, देश के अलग-अलग प्रांतों के अलावा विदेश की कई टीम सूबे में शराबबंदी के बाद के प्रभाव का आकलन कर रही है। उन्होंने बिना किसी का नाम लिये कहा कि शराब की होम डिलेवरी की चर्चा करते एक आदमी थक नहीं रहा।उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि उन्हे कैसे पता है कि शराब की होम डिलेवरी हो रही है।अगर पता है, तो पकड़वा क्यों नहीं देते।उन्होंने आशंका जतायी कि कहीं उन्हें इसका लाभ तो नहीं मिल रहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की:

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने देश का सम्मान बढ़ाया है।आतंकवादियों पर किये गये हमले से हर देशवासी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा है।केंद्र सरकार ने हाल में सूबे को 50 हजार करोड़ रुपये स्वीकृत किया है, जिससे कई पुल-पुलिया और सड़कों का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा कि सूबे को विकसित प्रदेश बनाना है और यह तब संभव है, जब एक बार फिर केंद्र में मोदी सरकार बने। केंद्र में मोदी सरकार के लिए उन्होंने रामकृपाल यादव को भारी मतों से जिताने की अपील भी की।

a2znews