बोले तेजस्वी,नयी सरकार के गठन में राहुल की होगी‘केंद्रीय भूमिका’

संवाददाता। नयी दिल्ली ।

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने गुरुवार को कहा कि प्रगतिशील दलों का गठबंधन केंद्र में अगली सरकार बनायेगा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नयी व्यवस्था में एक ‘केंद्रीय भूमिका’ होगी. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने नारों को हकीकत में बदलने में नाकाम रही है, चाहे वह ‘अच्छे दिन’ की बात हो या फिर ‘काले धन की वापसी’ की या फिर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ की।

तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि इस पार्टी ने अपनी ‘‘घृणा-भरी राजनीति’ को तेज कर दिया है ताकि वह अपने वादों पर पूछे जाने वाले प्रश्नों की अनदेखी कर सके। यादव की पार्टी राजद का बिहार में कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी), हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसाफ पार्टी (वीआईपी) के साथ गठबंधन है। उन्होंने दावा किया कि यह महागठबंधन राज्य में बड़ी जीत हासिल करेगा।

राजद नेता तेजस्वी ने पीटीआई-भाषा को दिये साक्षात्कार में कहा,‘‘उत्तर प्रदेश और बिहार हमेशा से ही केंद्र सरकारों के गठनों में कुंजी की भूमिका में रहे हैं, ये नहीं बदलेगा।’ उन्होंने कहा कि वह महसूस करते हैं कि पूरे भारत में सत्ता विरोधी लहर चल रही है। उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में सामने आयी है, जबकि देश में 19 मई को लोकसभा चुनाव के सातवें एवं अंतिम चरण के लिए वोट डाले जाने हैं। इस चरण में बिहार की आठ सीटों पर चुनाव होना है और ये सीटें हैं नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकाट और जहानाबाद।

राजद प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के कनिष्ठ पुत्र तेजस्वी ने यह विश्वास भी व्यक्त किया कि केंद्र में सरकार के गठन के लिए प्रगतिशील दल गठबंधन करने के लिए साथ में आयेंगे। जब उनसे पूछा गया कि प्रधानमंत्री के रूप में देश का नेतृत्व करने के लिए विपक्षी दलों में से श्रेष्ठ उम्मीदवार कौन है तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रमुख ने अपने नेतृत्व के तरीके में ‘‘बढ़िया परिपक्वता’ प्रदर्शित की है।

बिहार के इस पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘उनका मनोबल बहुत बढ़ा हुआ है नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की एक वास्तविक पैन इंडिया आलोचना।मैं महसूस करता हूं कि वह नयी सरकार के गठन में केंद्रीय भूमिका का निर्वहन करने जा रहे हैं।’ राहुल गांधी के प्रधानमंत्री पद पर आसीन होने के प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा, ‘‘मैं इसे कई महीनों से दोहरा रहा हूं। वह (गांधी) ‘न्याय’ के साथ सरकार के वैकल्पिक दृष्टिकोण को लेकर बहुत संगत रहे हैं और यह हमारे आंतरिक दर्शन के साथ सुसंगत है।’

29 वर्षीय नेता ने दावा किया कि देश में मोदी सरकार के खिलाफ बयार बह रही है और किसी तरह की खामोश लहर नहीं है।बिहार में हुये महागठबंधन में राजद को बीस सीटें मिली हैं और इसमें से एक उन्होंने माकपा (माले) को दी है और कांग्रेस नौ सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं। आरएलएसपी को पांच, हम और वीआईपी पार्टी को तीन तीन सीटें दी गयी है जबकि, सत्तारूढ़ गठबंधन में जदयू और भाजपा प्रत्येक को 17-17 और लोकजनशक्ति पार्टी को छह सीटें दी गयी हैं।

a2znews