भाजपा नेता के पुत्रवूध को गोली मारने का पूरा सच,जानिए इनसाइड स्टोरी!

 

संवाददाता। भागलपुर(बिहार)।

भागलपुर में भाजपा नेता ने अपने पुत्रवूध को गोली मार दी। घटना मोजाहिदपुर थाना क्षेत्र के मिरजानहाट स्थित मदनूचक मोहल्ले में रविवार दोपहर को घटी। भाजपा नेता सूर्यशंकर साह उर्फ सूरज साह ने छोटी पुत्रवधु महिमा भारती (26 ) को लाइसेंसी पिस्टल से गोली मार दी। गोली पेट के बाएं हिस्से(बाएं पंजरे) में लगी है। घायल महिला को ससुराल के लोगों ने ही इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया। घटना के बाद भाजपा नेता घर से भाग गए।

ससुर प्रताड़ित कर रहे थे:

बरारी थाना क्षेत्र के बड़ी खंजरपुर मोहल्ले के गोपीनाथ साह की इकलौती पुत्री महिमा की शादी 16 फरवरी, 2016 को मिरजानहाट मोहल्ले के सूरज साह के छोटे पुत्र व मुजफ्फरपुर स्थित स्टेट बैंक के सहायक मैनेजर भवेश कुमार भास्कर के साथ हुई थी। महिमा भारती बांका जिले के अमरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में हेल्थ ऑपरेटर के पद पर काम करती थी। घटना की सूचना मिलने पर मायके के लोग अस्पताल पहुंचे। महिमा की मां मंजू देवी ने कहा कि शादी के बाद से ही ससुर बेटी को प्रताड़ित कर रहे थे। कभी नौकरी छोड़ने तो कभी दहेज को लेकर प्रताड़ित करते रहते थे। छोटी-छोटी बात पर पिस्टल निकालकर गोली मार देने की धमकी दी जाती थी। डर से महिमा मायके से नौकरी पर आना-जाना करने लगी। अपने पिता की हरकत से दामाद भी परेशान रहते थे, लेकिन पिता के सामने कुछ बोल नहीं पाते थे। मुजफ्फरपुर से रांची ट्रांसफर होने के कारण रविवार सुबह भवेश कुमार ससुराल आए थे। पिता के डर से बेटा भी घर के बदले ससुराल ही आते-जाते थे।

पति के सामने ससुर ने मार दी गोली:

घायल महिमा भारती ने कहा कि पति का रांची ट्रांसफर होने के कारण शिफ्ट करने की तैयारी थी। रविवार दोपहर पति और बढ़ई मिस्त्री डब्लू के साथ पलंग लाने ससुराल गए थे। कमरे से पलंग खुलवा रहे थे। इसी दौरान ससुर आकर विवाद करने लगे। कहा कि शादी में मायके से मिला पलंग ही रांची ले जा रहे थे। विवाद के बाद पहले भाग जाने की धमकी दी गई। पति ने समझाने की कोशिश की, लेकिन ससुर ने पीछे से बाएं पंजरे में गोली मार दी। वह परेशान हो गई। सिर में चक्कर आने लगा। पति के साथ ससुराल के लोगों ने ही अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। पिता ने कहा कि 10 लाख रुपये दहेज देकर धूमधाम से शादी की थी। साहेबगंज के भवन निर्माण विभाग से दिसंबर, 2016 में रिटायर हुए थे।

पहले भी मारने की रची गई थी साजिश:

महिमा ने कहा कि ससुर ने पहले भी जान से मारने की साजिश रची थी। अमरपुर ड्यूटी पर जाने के दौरान रास्ते में लाल रंग की गाड़ी से स्कूटी में धक्का मरवा दिया गया था। मायागंज अस्पताल में इलाज चला, लेकिन ससुर एक भी दिन देखने नहीं आए। हत्या की आशंका को लेकर दो बार कोर्ट में सनहा दर्ज कराया गया था। डर के कारण मायके में रहते थे। पति के सामने ससुर ने गोली मार दी। महिमा ने कहा कि शादी के बाद बेटी देवांशी का जन्म हुआ था। बेटी दो साल की हो गई है, इसलिए अब पति के साथ रहने की तैयारी की गई थी।

ससुर चाहता था बहू घर में रहे:

भाजपा नेता का बड़ा बेटा पंकज भास्कर बेंगलुरु में इंजीनियर है। पत्नी टिंकल के साथ वहीं रहता है। सूरज साह चाहते थे कि छोटी बहू महिमा नौकरी छोड़कर ससुराल में रहे, लेकिन ससुर के व्यवहार से बहू का शादी के बाद से पटरी नहीं बैठ रहा था। दो साल से मायके में ही रह रही थी। ससुर के कारण ही नौकरी से रिजाइन करना पड़ा था।

बचाने पर पत्नी को भी पीटा:

गोली चलने पर सूर्यशंकर साह की पत्नी मधु साह बहू को बचाने गई तो पति ने पीट दिया। उन्होंने कहा कि एक तरफ पति और दूसरी तरफ बहू है। गोली लगने के बाद बहू को लेकर अस्पताल पहुंचे। पति थोड़ा गुस्सैल दिमाग के हैं। अस्पताल में महिला काफी परेशान थी।

इंस्पेक्टर को फोनकर कहा- गोली चला दी है
बहू को गोली मारने के बाद भाजपा नेता ने मोजाहिदपुर इंस्पेक्टर को फोनकर कहा कि गोली चला दी है। घर पर लूटपाट करने बदमाश आए थे। इंस्पेक्टर समझ नहीं पाए तो कहा- गोली मार दिए हैं। इसके बाद पुलिस भाजपा नेता को खोजने लगी। पुलिस मौके पर पहुंची तो घर का सामान बिखरा था। कोई कुछ बोल नहीं रहे थे। इसी बीच अस्पताल से घटना की सूचना मिली।

भाजपा के बड़े नेता की पैरवी पर मिला था लाइसेंस:

भाजपा के एक बड़े नेता की पैरवी पर सूर्यशंकर साह को पिस्टल का लाइसेंस मिला था। परिवार के कुछ लोगों का कहना था कि लाइसेंस मिलने के बाद से सूरज साह अपराधी जैसा व्यवहार करने लगे थे। घर से बाहर भी लोगों को धमकाया जाता था। इससे मोहल्ले के लोग भी परहेज करने लगे थे। भाजपा नेता की पैरवी पर डीएम ने उस वक्त कई लोगों को हथियार का लाइसेंस दिया था।

a2znews