बिहार के इन 8 सीटों पर हुये मतदान,ख़ूब बरसे वोट..!

टीम । A2Zन्यूज़Live (बिहार)।

बिहार में छठवेंचरण के लिए आठ सीटों पर मतदान जारी है। यहांवाल्मीकिनगर, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सीवान और महाराजगंज में मतदान हो रहा है। दोपहर 2बजे तक 44.73 प्रतिशत वोटिंग हुई है।इन संसदीय क्षेत्र में1.38 करोड़ मतदाता 127 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। वैशाली व पूर्वी चंपारण में सबसे अधिक 22-22 और पश्चिमी चंपारण में सबसे कम नौ उम्मीदवार हैं। सभी बूथों सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

इलेक्शन लाइव अपडेट्स:

शिवहर में बूथ संख्या 272 पर होमगार्ड जवान से गलती से चली गोली, पोलिंग पार्टी केएक कर्मचारी की मौत।
वैशाली के पारू में बूथ संख्या 240 में ईवीएम खराब, वोटिंग शुरू होने में हुई देरी
गोपालगंज में बूथ संख्या 318 पर ईवीएम में गड़बड़ी के चलते एक घंटे देरी से शुरू हुआ मतदान
वाल्मीकि नगर में बूथ संख्या 222 से दो युवक हिरासत में लिए गए, चुनाव में बाधा पहुंचाने का आरोप
सीवान में महागठबंधन उम्मीदवार हिना सहाब ने डाला वोट।
वैशाली में मीनापुर बनुआ बूथ पर महागठबंधन के कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, एक युवक पुलिस हिरासत में।

डालिये 8 सीटों पर एक नजर:

सीवान सीट:

राजद नेता और पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब चुनाव लड़ रहीं हैं। उनका मुकाबला जदयू प्रत्याशी कविता सिंह से है। कविता सिंह बाहुबली नेता अजय सिंह की पत्नी हैं। शहाबुद्दीन और अजय सिंह के बीच वर्चस्व को लेकर दशकों से संघर्ष होता रहा है। इस बार दोनों की पत्नियां चुनावी मैदान में आमने-सामने आ गई हैं, जो कुछ समय पहले तक गृहणी थीं।

पूर्वी चंपारण सीट :

केंद्रीय कृषि कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह भाजपा के टिकट पर मैदान में हैं। उनकामुकाबला कांग्रेस नेता अखिलेश प्रसाद सिंह के बेटे आकाश प्रसाद सिंह से है। आजादी के बाद 1971 तक यह कांग्रेस की परंपरागत सीट रही। लगातार पांच बार यहां से विभूति मिश्र सांसद रह चुके हैं। यहां से पांच बार भाजपा के राधा मोहन सिंह विजयी रहे हैं।

वैशाली सीट :

राजद नेता रघुवंश सिंह को वैशाली में लोजपा उम्मीदवार वीणा देवी चुनौती दे रहीं हैं। वीणा एमएलसी दिनेश सिंह की पत्नी हैं। वैशाली संसदीय क्षेत्र सवर्ण बाहुल्य है। हमेशा से भूमिहार और राजपूतों का सीट पर कब्जा रहा है। 2014 से पहले चार बार राजद के डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह वैशाली संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते रहे थे। 2014 के चुनाव में मोदी लहर में डॉ. रघुवंश को उन्हीं के गृह क्षेत्र के लोजपा उम्मीदवार रामकिशोर सिंह ने पछाड़ दिया था।

महाराजगंज सीट:

लोकसभा सीट महाराजगंज में भाजपा के जनार्दनसिग्रीवाल का मुकाबला प्रभुनाथ सिंह के बेटे रंधीर कुमार सिंह से है। रंधीर राजद प्रत्याशी हैं। राजपूत और यादव बहुल महाराजगंज सीट से जनार्दन प्रभुनाथ सिंह को हरा चुके हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा का खाता खुला था।

शिवहर सीट :

2014 लोकसभा चुनाव में रमा राजद प्रत्याशी मो. अनवरुल हक को हराकर दूसरी बार संसद पहुंची थीं। इस बार राजद ने गया निवासी सैय्यद फैसल अली को मैदान में उतारा है।

वाल्मीकिनगर सीट:

2008 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई वाल्मीकिनगर सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार शाश्वत केदार जदयू के वैद्यनाथ प्रसाद महतो को चुनौती दे रहे हैं। वैद्यनाथ 2009 में इस सीट से सांसद रह चुके हैं। 2014 लोकसभा में मोदी लहर में चुनाव हार गए थे। वहीं, शाश्वत केदार पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडेय के पौत्र और पूर्व सांसद मनोज पांडेय के बेटे हैं।

पश्चिमी चंपारण सीट:

लोकसभा सीट पश्चिमी चंपारण में भाजपा उम्मीदवार संजय जायसवाल और रालोसपा प्रत्याशी ब्रजेश कुमार कुशवाहा के बीच मुकाबला है। 1996 से लेकर 2014 तक 6 बार हुए आम चुनावों में 5 बार भाजपा ने जीत का परचम लहराया है। संजय जायसवाल को पिता मदन जायसवाल से राजनीति विरासत मिली। वह पश्चिम चंपारण सीट से दो बार जीत चुके हैं और तीसरी बार मैदान में हैं। रालोसपा उम्मीदवार ब्रजेश कुमार कुशवाहा ब्रजेश की राजनीति में एंट्री नई है।

गोपालगंज सीट:

जदयू प्रत्याशी आलोक कुमार सुमन और राजद उम्मीदवार सुरेंद्र राम के बीच मुकाबला है। आलोक कुमार सुमन पेशे से डॉक्टर हैं और इसी साल जदयू में शामिल हुए हैं। पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। सुरेंद्र राम भी पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं।

a2znews