प्रेम-प्रसंग में घर से हुये थे फरार,परिजनों के सहमति से बजी शादी की शहनाई

कुमार सुबोध सिंह | शंभूगंज/बांका

प्रेमी प्रेमिका के आगे उसके परिजन भी अब लाचार होते जा रहे है । जहाँ अब परिजनो की सहमति से नही बल्कि लड़का लकड़ी के सहमति से परिजनो को रजामंदी होना पड़ रहा है । एेसा ही एक मामला शंभूगंज प्रखंड क्षेत्र के पड़रिया पंचायत के किरणपुर गांव का है । जहाँ प्रेम प्रसंग में शादी के फैसला पर में दोनो के परिजनो द्वारा विरोध करने पर प्रेमी युगल की जोड़ी पढ़ाई करने जाने के क्रम में ही घर से फरार हो गया । जहाँ काफी हील हुज्जत के बाद प्रेमी प्रेमिका के लिए गए शादी के फैसला पर दोनो के परिजनो को सहमति प्रदान कर शादी कराना पड़ा ।

जानकारी के अनुसार शंभूगंज प्रखंड क्षेत्र के किरणपुर गांव के ही सारजन मंडल की पूत्री से भागलपुर जिले के बाथ गांव के रोहित कुमार पिता विनोद कुमार सिंह उर्फ वैज्ञानिक से रांग नंम्बर से ही बात करते करते दोस्ती हो गई । फिर ये दोस्ती धीरे धीरे प्यार में बदल गया । जब लड़की व लड़का का शादी कही और जगह पर तय होने लगा तो दोनो ने विरोध शुरू कर दिया । दोनो के परिजन शादी कही और कराता कि दोनो प्रेमी प्रेमिका शादी करने के नीयत से घर से फरार हो गया । इस घटना के बाद दोनो के परिजन एक दुसरे के प्रति आक्रोशित हो गए । लेकिन गांव के बुद्धीजिवियो में से एक राजकुमार सिंह उर्फ लोहा सिंह उर्फ मुक्ति सिंह ने दोनो को सरकार के दहेज विरोधी अभियान व एक्ट का पाठ पढ़ाकर आदर्श शादी करने के लिए पहल कर दोनो परिजनो के बीच समझौता कराकर बाथ थाना क्षेत्र के देवधा स्थित जलाशंभूनाथ देवधाम में दोनो को बुलाकर विधि विधान के साथ शादी कराया गया । जहाँ दोनो पक्षो के लोगो ने वर वधु को आर्शीवाद देकर विदा किया । यह घटना यहां चर्चा का बिषय बना रहा ।

a2znews