एक्सक्लूसिव:बन्दरा के ज्यादातर पशुओं में है बांझपन के लक्षण,कृषक गोष्ठी सह पशु चिकित्सा शिविर में हुआ खुलासा!

 

संवाददाता। बंदरा (मुजफ्फरपुर)।

प्रखंड के मतलुपुर कोरलाहा चौर स्थित बाबा मत्स्य पालन एवं समेकित कृषि फार्म के प्रांगण में सुक्रवार को कृषि प्रौद्योगिकी अभिकरण आत्मा, एवं बिहार पशु चिकित्सा महाविद्यालय पटना के संयुक्त तत्वावधान में कृषिक गोष्ठी सह पशु चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

कृषक गोष्ठी का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व कुलपति गोपाल जी त्रिवेदी ने की जबकि संचालन आत्मा के निदेशक इसमाईल ने की। गोष्टी में पशुपालको के बीच हो रहे विभिन्न समस्याओं और इसके निदान पर विस्तार रूप से बिहार पशु विज्ञान विश्व विद्यालय के कुलपति डा रामेश्वर सिंह ने अपना सुक्षाब दिये। पशुओं का स्वास्थ्य उपचार की जानकारी विहार पशु महा विद्यालय के अधिष्ठाता डा जे के प्रसाद ने पशुपालको के बीच रखा। मौके पर डा पंकज कुमार, डा, शरोज कुमार, डा अंकेश कुमार, शिवराज सिंह, ने संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन डीएसडब्लू रमन त्रिवेदी ने की।

पशु जांच शिविर में चिकित्सको की टीम ने 300 बकरी, 78 भैस, 32 गाय की जांच की । जिसमे वाझपन का लक्षण पाया गया।

वृक्षा रोपन  : पशु विज्ञान विश्व विद्यालय के कुलपति रामेश्वर सिंह ने तीन आम का पौधा फार्म हाउस पर लगाया।

deepak