श्रीकृष्ण जन्म कथा सुन भाव विभोर हुए श्रोता

संवाददाता।बंदरा(मुज़)।

रामपुरदयाल के श्रीराम जानकी मंदिर परिसर में चल रहे सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन गुरुवार को साध्वी चंचला चैतन्य गौड़ ने भगवान श्रीकृष्ण जन्म का प्रसंग सुनाकर श्रद्धालुओं को भाव विभोर कर दिया। इस दौरान भगवान के दिव्य झांकी के प्रस्तुति से प्रसंग का सजीव चित्रण भी किया गया।कथा के क्रम में जब भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मनाई गई तो श्रद्धालुओं ने जमकर खुशियां मनाई।


कथा में साध्वी चंचला चैतन्य गौड़ ने भगवान् श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रेम और योग के देवता श्रीकृष्ण की वाणी युग-युग में प्रभावशाली रही है। भक्तो की श्रृंखला सांसारिक माया मोह को त्यागकर केवल इश्वर प्राप्ति के लिए कटिबद्ध होती रही है ।इस मौके पर मुख्य यजमान हर्षवर्धन राय एवं उनकी माता के साथ साथ आयोजन समिति के अध्यक्ष उपेन्द्र ठाकुर, सरपंच देवेन्द्र पाण्डेय, राजीव त्रिवेदी,संजीव त्रिवेदी,बैकुंठ पाण्डेय रवीरंजन पाण्डेय, रामचन्द्र त्रिवेदी,अमरेश पाण्डेय, अवधेश ठाकुर,सुरेंद्र ब्यास, सौरभ कुमार आदी उपस्थित थे ।

a2znews