DIG मनुमहाराज ने की बैठक, थानों का किया निरीक्षण

 

*शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव सम्पन्न कराने की कही बात

*चुनाव में अपराधियों व नक्सलियों पर विशेष नज़र रखने की कही बात

*शहर स्थित कोबरा बटालियन कैम्प का भी लिए जायजा

मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)।

मुंगेर प्रक्षेत्र के युवा डीआईजी मनुमहाराज 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी और शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव सम्पन्न करने को लेकर बुधवार की शाम अचानक जमुई के स्थानिए परिसदन भवन पहुंचे।उसके बाद समाहरणालय स्थित पुलिस अनुमंडल कार्यालय पहुंच कर निरीक्षण करते हुए एसपी जगुनाथरेड्डी और एसडीपीओ रामपुकार सिंह सहित खैरा,लक्ष्मीपुर,बरहट सहित कई थाना के थानाध्यक्षों के साथ बैठक किये।बैठक के दौरान सभी थाना के कार्यों की समीक्षा किये।और बारी-बारी से सभी थानाध्यक्ष को अपने क्षेत्र में अपराध की रोक-थाम के लिए अपने कार्यशैली में तीव्रता लाने का निर्देश दिया।वहीं एसडीपीओ रामपुकार सिंह से भी अपराध नियंत्रण की जानकारी ली और साथ ही सभी फाइलों की बारीकी से जांच की।और कई महत्वपूर्ण निर्देश भी दिए।हालांकि 2019 लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने की बात कही और साथ ही एसपी जगुनाथरेड्डी को निर्देश दिए कि संवेदनशील एवं चिन्हित जगहों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की जाए।खास कर नक्सल प्रभावित क्षेत्र पर कड़ी नजर बनाए रखने की बात कही।

207 बटालियन कोबरा कैम्प का भी किये निरीक्षण:

बैठक के बाद एसडीपीओ कार्यालय से निकल कर सीधा शहर के कल्याणपुर स्थित पॉलिटेक्निक कॉलेज पहुँचे।जहां डीआईजी मनुमहाराज ने 207 कोबरा बटालियन कैम्प का निरीक्षण कर कई आवश्यक दिशा व निर्देश दिए।साथ ही भौगोलिक क्षेत्र की स्थिति की जानकारी ली।उसके बाद सदर थाना पहुंच कर वहां की स्थिति का जायजा लिया।और साथ ही लंबित मामलों को अभिलंब निष्पादन करने का थानाध्यक्ष को निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर अपराधियों को बख्शा नहीं जाए।

थानाध्यक्ष सहित 06 पुलिस कर्मी निलंबित मामले में भी की जांच पड़ताल:

हालांकि डीआईजी मनुमहाराज 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर जमुई आये थे।शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव सम्पन्न कराने,अपराधियों व नक्सलियों पर शिकंजा कसने के लिए पदाधिकारियों सहित कई थानाध्यक्ष के साथ बैठक की।बैठक के दौरान पदाधिकारियों को कई दिशा व निर्देश भी दिए।लेकिन सदर थाना क्षेत्र में महज दो दिन पहले कि घटना को भुलाया नहीं जा सकता जिसे डीजीपी और डीआईजी ने खुद हैंडल किया हो और कार्रवाई करते हुए सदर थानाध्यक्ष सहित 06 पुलिस कर्मी को निलंबित किया गया था।

हो सकती है निलंबित पुलिस पदाधिकारी की गिरफ्तारी:

वहीं सूत्रों की माने तो मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआईजी मनुमहाराज का सदर थाने का निरीक्षण विधि-व्यवस्था के अलावे कहीं और इशारा कर रहा है।वहीं सूत्र बताते हैं कि दो दिन पूर्व महिसौड़ी निवासी गब्बर खान के साथ पुलिस द्वारा थर्ड डिग्री टॉर्चर मामले की जांच खुद कर रहे थे।बताते चलें कि इस मामले में जहाँ एक ओर युवक की स्थिति बिगड़ने से पटना रेफर कर दिया गया था तो वहीं दूसरी ओर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के निर्देश पर डीआईजी मनुमहाराज द्वारा थानाध्यक्ष सिधेश्वर पासवान को तत्काल निलंबित कर दिया गया था।उसके बाद एसपी जगुनाथरेड्डी के द्वारा जांच के बाद पुलिस एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष मुकेश सिंह,केस के आईओ एसआई सहित तीन मोबाइल टाइगर के जवान को निलंबित कर दिया गया था।हालांकि इस मामले में अभी तक पेंच अटकी हुई है।वहीं इस मामले में अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।बताया यह भी जा रहा है कि इस मामले में खास तौर पर मुकेश सिंह जो पहले से ही लाइन हाजिर था जिसके द्वारा युवक की बेरहमी से पिटाई मामले में गिरफ्तारी भी हो सकती है।मौके पर डीआईजी के साथ एसपी, एसडीपीओ,सदर थानाध्यक्ष राजेश शरण,खैरा थानाध्यक्ष रविशंकर सिंह,लक्ष्मीपुर थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सहित कई थानाध्यक्ष मौजूद थे।

झाझा में भी बैठक कर पदाधिकारियों को दिया दिशा निर्देश:

डीआईजी मनुमहाराज ने झाझा में भी इससे पूर्व लोकसभा चुनाव में विधि व्यवस्था एवं शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करने को लेकर मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआईजी मनु महाराज ने पुलिस अनुमंडल कार्यालय झाझा में पदाधिकारियों के साथ बैठक की।बैठक में जमुई पुलिस अधीक्षक जे रेड्डी,झाझा एसडीपीओ भास्कर रंजन सहित पुलिस अनुमंडल क्षेत्र अंतगर्त झाझा,सिमुलतला
सोनो,चकाई,चंद्रमंडी,चरकापत्थर के थानाप्रभारी मौजूद थे।लगभग एक घंटे के बैठक के दौरान पुलिस पदाधिकारियो से अपने अपने क्षेत्र में अपराध की ग्राफ की विस्तृत जानकारी लेते हुए अपराधों में कमी लाने के साथ चुनाव में पुलिस प्रशासन की महत्वपूर्ण भूमिका की बाते करते हुये कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

a2znews