लोस चुनाव2019स्पेशल:अचार संघीता उलंघन करने वालों पर ऐसे होगी कार्रवाई

 

*DM और SP ने लोकसभा चुनाव के तैयारी की दी जानकारी

*प्रेस वार्ता के दौरान DM और SP ने शांतिपूर्ण तरीके से लोकसभा चुनाव सम्पन्न कराने की कही बात

*जमुई लोकसभा के लिए पहले चरण के तहत 11 अप्रैल को होगी मतदान

*जमुई लोक सभा के लिए 06 विधानसभा क्षेत्र में होगी चुनाव

*चुनाव में बनेगा गुलाबी बूथ,गुलाबी बूथ पर होंगी महिलाएं कर्मी

मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)।

निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव की तिथि जारी होते ही जमुई जिले में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। प्रथम चरण के तहत 11 अप्रैल को जमुई लोकसभा में चुनाव होना है। इसके लिए 18 मार्च को अधिसूचना जारी की जाएगी।चुनावी तैयारी की जानकारी देते हुए जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि आदर्श आचार संहिता की कड़ाई से पालन किया जाएगा।लोकसभा क्षेत्र में कहीं एक भी बैनर पोस्टर या दिवाल लेखन मिला तो संबंधित राजनीतिक दल पर FIR दर्ज की जाएगी। उन्होंने कहा कि आचार संहिता लागू होने के बाद राजनीतिक दलों को एक दिन का मोहलत दिया गया है ताकि वे निर्धारित समय में बैनर,होडिंग,पोस्टर व दिवाल लेखन को हटा लें।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के अनुपालन के मद्देनजर संबंधित राजनीतिक दल के प्रत्याशी स्वीकृति के बाद ही विज्ञापन प्रकाशित करवा सकेंगे। लोकसभा चुनाव के सफल संचालन एवं सूचनाओं के आदन-प्रदान और शिकायतों पर तुरंत निष्पादन के लिए 1050 टॉल फ्री नंबर भी जारी किया गया है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 11837 मतदान कर्मियों का डाटाबेस तैयार किया गया है। चुनाव के दिन 7100 मतदान कर्मियों को लगाया जाएगा और शेष रिजर्व में होंगे।चुनाव के सफल संचालन को लेकर 22 सेल का गठन किया गया है।

वहीं आगे निर्वाचन पदाधिकारी सह जमुई जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि अधिसूचना जारी के दिन यानि 18 मार्च से लोकसभा चुनाव के लिए नामांक पत्र दाखिल किया जाएगा।नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 25 मार्च तक है।26 मार्च को नाम निर्देशन पत्र की संवीक्षा की जाएगी, वहीं 28 मार्च तक अभ्यर्थी अपना नाम वापस ले सकते हैं। 11 अप्रैल को मतदान होगा और 23 मई को मतगणना होगी।संसदीय चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों के लिए 12500 रूपया जमानत की राशि निर्धारित की गई है। साथ ही अभ्यर्थी 70 लाख तक की अधिकतम राशि चुनाव में खर्च कर सकते हैं।आगे उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कुछ गुलाबी बूथ भी बनाया जाएगा जिस पर सिर्फ महिला कर्मी ही कार्य करेंगी।

मौके पर प्रेस वार्ता में मौजूद एसपी जगुनाथरेड्डी ने बताया कि नक्सल प्रभावित जमुई जिले में शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए 61 कंपनी केंद्रीय बल की मांग की गई है।उन्होंने बताया कि जिले के चार विधानसभा के मतदान केंद्र भवनों को तीन श्रेणी में बांटा गया है।355 मतदान केंद्र नक्सल,387 संवेदनशील व 331 मतदान केंद्र भवन को सामान्य श्रेणी में रखा गया है।चुनाव के लिए 76 फ्लाईंग स्क्वायर्ड के अलावा जिले में 59 चेकनाका बनाया जाएगा। पूरे जिले को 126 सेक्टर में बांटा गया है। एरिया डॉमिनेशन के लिए CRPF को लगाया जाएगा।साथ ही 3
हजार लोगों को चिन्हित किया गया है जो मतदान प्रभावित कर सकते हैं।उनके विरूद्ध कार्रवाई भी की जा रही है।वहीं 230 लोगों से बंधपत्र भरवाया गया है।877 के विरूद्ध वारंट जारी की गई है।वहीं 38 के विरूद्ध धारा 107 की कार्रवाई की गई है।14 लोगों के विरूद्ध सीसीए लगाए जाने की अनुशंसा की गई है।

a2znews