असहाय-निर्धनों को मदद एवं दुर्घटना में जख्मी लोगों को अस्पताल पहुंचाकर प्रेरणा का श्रोत बनी CDPO

कुमार सुबोध सिंह | शंभूगंज

आज के आधुनिक युग में भी लोगो को सेवा कर अपना मानवता का मिशाल पेश कर रही शंभूगंज सीडीपीओ चंचला कुमारी लोगो के लिए एक प्रेरणा का श्रोत बन गई है । इसको लेकर शंभूगंज सीडीपीओ चंचला कुमारी को बांका जिला प्रशासन की ओर से उन्हे प्रस्सती पत्र भी मिला है । जानकारी के अनुसार शंभूगंज प्रखंड के बाल विकास परियोजना कार्यालय में नियुक्त सीडीपीओ चंचला कुमारी जब भी जहाँ भी उनके सामने सड़क दुर्घटना होती है ।

 इस घटना के बाद ततपरता के साथ अपने साथ लेकर चलने वाला मेडिकल कीट से ततकालीक इलाज कर उसे अस्पताल तक पहुंचाती है । इसके लिए उनको चाहे कितनो जरूरी काम क्यो न पड़ जाय । लेकिन सबसे पहले दुर्घटना में जख्मी लोगो को अस्पताल पहुंचाकर जान बचाना अपना धर्म बना लिये है । इतना ही नही स्कूल के समय में सड़क पर खेलने वाला बच्चो को स्कूल पहुंचाना, गंदगी में रहने वाला बच्चो को उठाकर उसके घर तक पहुंचाकर स्वच्छ रखना और असहाय लोगो को आर्थिक मदद करना व भुखे भिक्षुको को खाना खिलाना उनका शौक बन गया है ।

सामान्य परिवार से पढ़ाई कर सीडीपीओ बने चंचला कुमारी बताती है कि उन्हे बचपन से ही इन सभी चीजो का आदत है । अब तक में उन्होने करीब एक सौ से भी ज्यादा सड़क दुर्घटना में जख्मी लोगो को अस्पताल पहुंचाकर नई जिन्दगी दिलाने का काम किये है । जबकि सड़क दुर्घटना होने के बाद अधिकतर लोग जख्मी को छोड़कर भाग जाते है । जिसको लेकर उन्हे कई संस्थानो के द्वारा कई प्रकार के संम्मान से संम्मानित किया गया है । वर्तमान में आंगनवाड़ी केन्द्र की स्थिति को बेहतर बनाने में ततपरता के साथ काम करने वाली सीडीपीओ चंचला कुमारी ने विते दिनो गर्भवती महिला का गोद भराई कार्यक्रम के दौरान भी एक दर्जन से भी ज्यादा केन्द्र पर पहुंची गर्भवती महिला को फल मिठाई आदि देकर गोद भराई कार्यक्रम किया । उन्होने बताया कि वो मानव सेवा कर समाज को भी इस दिशा में काम करने का संदेश व लोगो से भी अपील करते है ।

a2znews