चन्द्रमंडीह पुलिस टीम को दी जायेगी अवार्ड,पुलिस उपाधीक्षक करेंगे अनुशंसा

 

*अगवा मज़दूर के बरामदगी को लेकर एसडीपीओ ने की प्रेस वार्ता

*पुलिस की मेहनत लाई रंग,30 घंटों के अंदर छान डाले कई जंगल

*लगातार छापेमारी से बौखलाए अपराधियों ने अगवा मज़दूर को छोड़ा

विकास कुमार,चकाई (जमुई)।

बीते मंगलवार की देर रात चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र के घरवासन स्थित चिमनी ईट भट्ठा से अगवा मजदूरों की रिहाई के लिए पुलिस उपाधीक्षक भास्कर रंजन के नेतृत्व में चंद्रमंडीह पुलिस की लगातार दो दिनों तक छापेमारी चलती रही।

इस दौरान पुलिस द्वारा चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र के अतिसंवेदनशील स्थानों जैसे चिहरा,ठाड़ी,धमना ,बसबुटियाकोठियां आदि स्थानों पर छापेमारी की।इस दौरान पुलिस द्वारा तीन संदिग्ध को भी पकड़ा गया जिसे पूछताछ के दौरान पुलिस को संदिग्ध से अगवा किये गये मजदूरों और अपराधियों के बारे में सुराग मिला जिस कारण पुलिस के बढ़ते दबाव से घबराकर महज 36 घन्टे के अंदर अपराधियों ने अगवा मजदूरों को छोड़ दिया।

चंद्रमंडीह पुलिस टीम को मिलेगा मेहनत का फल:

अगवा मजदूरों के बरामदगी हेतु गठित छापेमारी टीम में शामिल चंद्रमंडीह पुलिस एवं बीएमपी जवानों को रिवार्ड देने हेतु पुलिस उपाधीक्षक भास्कर रंजन अनुशंसा करेंगे।इस बाबत श्री रंजन ने बताया कि इस छापेमारी टीम में शामिल सभी पदाधिकारी एवं जवान ने ईमानदारी एवं मेहनत पूर्वक अपना कर्तव्य निभाते हुए मात्र 36 घन्टे के अंदर अगवा मजदूरों को छुड़ा लिया।

इस टीम में शामिल प्रभारी थानाध्यक्ष खामश चौधरी,अवर निरीक्षक नारायण ठाकुर एवं एसआई साहेब दयाल सहित अन्य जवानों को रिवॉर्ड देने हेतु उनके द्वारा अनुशंसा कर वरिय पदाधिकारियों को भेजा जाएगा।

a2znews