गायघाट में सेविका-सहायिकाओं ने 4 घंटे से अधिक तक जाम रखा फोरलेन,BDO के आश्वासन पर जाम किया समाप्त

 

*एनएच के दोनों लेन पर लगा रहा जाम, फंसे एबुंलेस समेत अन्य वाहन, स्कूली वैन में कैद रहें बच्चे

संवाददाता । गायघाट । मुज़फ्फरपुर

 

मुज़फ्फ़रपुर में लगातार पिछले एक महीने से अधिक समय से आंदोलनरत आंगनबाड़ी सेविका सहायिकाओ का आंदोलन उग्र हो गया। बुधवार को चक्का जाम के तहत सैकड़ो सेविकाओं ने गायघाट चौक सड़क जाम कर यातायात ठप कर दिया।

इससे एनएच के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। मैठी टोल पलाजा, जारंग हाईस्कूल चौक, पूरब में बेनीबाद के हनुमान नगर चौक तक वाहनों की कतारें लग गई। एंबुलेंस से लेकर सभी वाहन जाम में फंसे रहें।

स्कूल वैन में बच्चे भी कैद रहें।सेविकाओं ने सरकार के विरोध में नारे भी लगाएं। सुबह 10 बजे लगाया जाम अपराह्न दो बजे तक हटाया जा सका।15 सूत्री मांगो को लेकर आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका पांच दिसंबर से आंदोलनरत हैं। सेविकाओं के इस आंदोलन में प्रखंड के सभी रसोईया ने भी अपने मांगो को लेकर सरकार के खिलाफ खूब जमकर प्रदर्शन की।सेविकाओं ने वाहनों को रोक दिया। इस दौरान जिसने भी उनकी बात मानने से इन्कार किया उसे फजीहत उठानी पड़ी।

इसमें अधिकतर बाइक सवार रहें। बचते- बचाते निकलने की जुगत में वे सेविकाओं के आक्रोश के शिकार हुए।सूचना के बाद दल बल के साथ पहुंचे थानाध्यक्ष शंभु कुमार, बेनीबाद ओपी अध्यक्ष मिहिर कुमार ने आंदोलनकारियों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन वे लोग मानने को तैयार नहीं हुए। काफ़ी मशक्कत के बाद बीडीओ से वार्ता के बाद सेविकाओं ने जाम समाप्त कर दिया।

उसके बाद संघ की अध्यक्ष सबीना खातुन के नेतृत्व में गुलसेहर प्रवीण,रीता कुमारी , मुनीता कुमारी, रिंकु समेत आधा दर्जन प्रतिनिधिमंडल ने बीडीओ अनिल कुमार को ज्ञापन सौंपा।उन्होंने अपने स्तर से मांगो को पूरा कराने का आश्वासन दिया।

a2znews