ब्रेकिंग:बन्दरा के नूनफारा में लूट-खसोट एवं खानापूर्ति की शिकायत, वार्ड सदस्यों ने DM से की जांच एवं कार्यवाई की मांग

 

संवाददाता । बंदरा,मुज़फ्फरपुर ।

प्रखंड के नूनफारा पंचायत में योजनाओं में लूट-खसोट एवं भ्रष्टाचार की जांच कराने की मांग को लेकर स्थानीय वार्ड सदस्यों ने जिलाधिकारी को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है। दिए गए आवेदन में अधिकारियों के खिलाफ़ भी आवश्यक कार्रवाई की मांग की गई है।

आवेदन में लिखा है कि पंचायत में सात निश्चय योजना,मनरेगा एवं अन्य सभी योजनाओं में लूट खसोट, भ्रष्टाचार एवं अनियमितता है। जिस पर अधिकारियों के द्वारा जानबूझकर कार्यों की खानापूर्ति की जा रही है। बिचौलियों एवं ठेकेदार के माध्यम से चेक पर जबरन मुखिया पति के द्वारा हस्ताक्षर करा लिया जाता है। पंचायत में बिना आम सभा एवं वार्ड विकास प्रबंधन एवं क्रियान्वयन समिति के बैठक कराए योजना का चयन एवं संचालन किया जा रहा है ।योजनाओं के संचालन के समय किसी भी कार्यस्थल पर सिलापट्ट नहीं लगाया जा रहा है और प्राक्कलन की जानकारी भी छुपा कर रखी जाती है। मनरेगा योजना के चयन में भी कोरम पूरा की गई है।पंचम वित आयोग आदि योजनाओं में भी खानापूर्ति किए गए हैं।

घटिया सड़क निर्माण आदि का विरोध करने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही है। पंचायत सचिव के द्वारा भी संतोषजनक जबाब नहीं दिया जा रहे हैं ।वे अक्सर गायब रहते हैं ।विरोध करने पर छेड़खानी आदि फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दिया जा रहा है। प्रखण्ड के अधिकारी भी कार्यवाई आवश्यक कार्यवाई में दिलचस्पी नहीं लेते हैं। दिये गये आवेदन पर विनीता देवी, रशीदा खातून,मनोहर राम,मनोज कुमार सिंह, दुखनी देवी,शंकर साहनी, राजीव कुमार, गगन देव राय,रतन राय,कुमारी देवी आदि वार्ड सदस्यों के हस्ताक्षर शामिल है।इस मामले में मुखिया ने आरोपों को गलत बताया है।

deepak