यहां किसानों को दिया गया मशरूम उत्पादन का प्रशिक्षण,महिलाओं ने भी सीखी उत्पादन की तरकीब

 

*प्रशिक्षण में सैकड़ों महिलाओं ने भी लिया भाग

अरुण कुमार,खैरा (जमुई)।

जमुई के खैरा प्रखंड के हरदीमोह गांव में बुधवार को कृषि प्रौधोगिकी अभिकरण आत्मा जमुई के तत्वावधान में विशेष केंद्रीय सहायता योजना एससीए के तहत मशरूम खेती के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का उद्घाटन प्रबंध तकनीकि प्रबंधक सह उप परियोजना निदेशक मुकुल कुमार ने किया।

इस अवसर पर किसानों को संबोधित करते उन्होंने कहा कि अगर किसान उत्पादन संगठन के माध्यम से मशरूम की खेती किया जाए तो हम मशरूम को बाजार तक आसानी से पहुंचा सकते हैं।साथ ही महिलाएं तरह-तरह का उत्पाद बनाकर मार्केटिंग कर सकेंगी और अधिक मुनाफा कमा सकती है।

उन्होंने कहा कि जमुई में स्पॉन लैब की व्यवस्था की जा रही है।यहां के किसनों को आसानी से स्पॉन उपलब्ध हो सकेगा।

खैरा के एटीयम राजीव रंजन ने बताया कि मशरूम की खेती कर लोग कम पूंजी में अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।उन्होंने कहा कि एक कमरा बनाकर मशरूम का उत्पादन किया जाए तो पूरे साल में लगभग दो लाख कमाया जा सकता है। इस अवसर पर झाझा के एटीयम संजीव कुमार,वसुधा केंद्र संचालक प्रमोद कुमार मंडल,कृष्णरंजन सिंह,प्रगतिशील महिला किसान संगीता देवी,रिंकी कुमारी आदि मौजूद थीं।

deepak