हैवी ब्लास्टिंग के विरोध पर एफआईआर एवं गिरफ्तारी पर भड़के ग्रामीण

-हैवी ब्लास्टिंग का विरोध करने वालों पर एफआईआर

-गिरफ्तारी के बाद फूटा ग्रामीणों का गुस्सा

धनबाद।दिलीप।

हरिहरपुर के अमलखोरी में क्रशर संचालक पत्थर का उत्खनन कर रहे हैं. उत्खनन के दौरान हैवी ब्लास्टिंग की जाती है ब्लास्टिंग का असर ग्रामीण इलाके में पड़ रहा है. हैवी ब्लास्टिंग पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे थे. आंदोलन के बाद करीब दस लोगों के ऊपर रंगदारी मांगने का आरोप लगा कर प्राथमिकी दर्ज करा दी गई है. पत्थर का उत्खनन करने वालों ने एफआईआर दर्ज करवाई है।


यह भी पढ़े: धनबाद में जिला खनन टास्क फोर्स की ताबड़तोड़ छापेमारी जारी, भारी मात्रा में अवैध कोयला जब्तपुलिस ने एक आरोपी गिरिधारी यादव को गिरफ्तार कर लिया. जिसके विरोध में स्थानीय महिला आक्रोशित हो गईं. बड़ी संख्या में स्थानीय महिलाएं हरिहरपुर थाना पहुंच गई. महिलाओं ने थाना का घेराव किया. सूचना मिलने के बाद बाघमारा एसडीपीओ निशा मुर्मू भी मौके पर पहुंची. वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई. करीब सात घंटे तक महिलाएं थाना के मुख्य द्वार पर डटी रहीं. ग्रामीणों का कहना है कि पिछले कई दिनों से गांव की महिलाएं धरना दे रही हैं. पत्थर का उत्खनन करने वाले हैवी ब्लास्टिंग कर रहे हैं. जिसके कारण लोगों का घर क्षतिग्रस्त हो रहा है. हैवी ब्लास्टिंग के कारण गांव में हमेशा डर का माहौल बना रहता है. बच्चों को लेकर लोग काफी आशंकित रहते हैं कि भविष्य में कोई बड़ी घटना ना हो जाये. अपने- अपने घरों को बचाने के लिए वो पिछले कई दिनों से अमलखोरी में धरना दे रहे हैं.धनबाद में आंदोलन करती ग्रामीण महिलाएंमहिलाओं के धरना को देखते हुए रंगदारी मांगने की प्राथमिकी गांव के पुरुषों पर कर दी गई. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद गांव के ही गिरिधारी यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की इस कार्रवाई से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है. ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस एकतरफा कार्रवाई कर रही है. हैवी ब्लास्टिंग के जरिये पत्थर का उत्खनन करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं करती है।

deepak