स्पॉट: मूसलधार बारिश के चलते स्वीमिंग पुल में तब्दील हुई सिलिकान सिटी

-मूसलधार बारिश के चलते स्वीमिंग पुल में तब्दील हुई सिलिकान सिटी के लिए पांच दिन अहम

-भारी बारिश की चेतावनी, रेड अलर्ट जारी

बेंगलुरु।संवाददाता।

पिछले दो-तीन दिनों की मूसलधार बारिश के चलते स्वीमिंग पुल में तब्दील हुई सिलिकान सिटी को बुधवार को कुछ राहत मिली। जलभराव से जूझ रही कई सड़कों को साफ कर दिया गया।सबसे बुरी तरह से प्रभावित इलाकों से पानी निकालने का काम भी तेज कर दिया गया। लेकिन इस हाईटेक सिटी के लिए अलगे पांच दिन बेहद अहम होने वाले हैं। मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी दी है और रेड अलर्ट जारी किया है। नुकसान का आकलन करने के लिए हुई बैठक के बाद मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने कहा कि वह बारिश से क्षतिग्रस्त बुनियादी सुविधाओं को सुधारने के लिए केंद्र से मदद मांगेंगे।

अधिकतर सड़कें खुलीं और कई इलाकों से पानी निकाला गया:

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि क्षेत्र के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। कुछ इलाकों में एक घंटे में 20 मिमी तक बारिश हो सकती है। आइएमडी के आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को बेंगलुरु शहरी जिले में 43.1 मिमी बरसात हुई जो औसत से 585 प्रतिशत अधिक है। इस मौसम में यानी एक जून के बाद से बेंगलुरु में सामान्य से 162 प्रतिशत ज्यादा बारिश हो चुकी है। बुधवार सुबह भले ही बारिश रुक गई है, लेकिन अगले पांच दिनों तक भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है। इससे स्थिति और गंभीर Laga सकती है।

हाई कोर्ट ने हर वार्ड में शिकायत सेल गठित करने को कहा:

हालात को देखते हुए कर्नाटक हाई कोर्ट ने बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका से हर वार्ड में शिकायत सेल गठित करने का निर्देश दिया है। ई-कामर्स कंपनियों ने जलभराव वाले क्षेत्रों में सेवा देने से मना कर दिया है। कई क्षेत्रों में पानी भरा होने की वजह से बुधवार को भी लोगों को आने-जाने के लिए ट्रैक्टर का सहारा लेना पड़ा। हालांकि, कुछ इलाकों में मुख्य सड़कों पर पानी कम होने के बाद यातायात व्यवस्था पटरी पर लौटी है। कुछ इलाकों में पानी की आपूर्ति भी बहाल हो गई है। टीके हल्ली पंपिंग स्टेशन में पानी भर जाने से जलापूर्ति ठप हो गई थी।

बदहाली के लिए भ्रष्टाचार और कुशासन जिम्मेदार : पाई:

आइटी क्षेत्र के दिग्गज इंफोसिस के पूर्व सीएफओ टीवी मोहनदास पाई ने बदहाल स्थिति के लिए उच्च स्तर पर भ्रष्टाचार, कुशासन और शहरी सुविधाओं में सुधार की कमी समेत कई चीजों को जिम्मेदार ठहराया है। सियासी आरोप-प्रत्यारोप भी जारी बेंगलुरु की बदहाल स्थिति पर सियासत भी जारी है। एक दिन पहले मुख्यमंत्री बोम्मई ने मौजूदा स्थिति के लिए पूर्व की कांग्रेस सरकारों को जिम्मेदार ठहराया था। अब पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा कि अगर व्यवस्था नहीं सुधर रही है तो बोम्मई पद छोड़ दें। उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग भी की है।

बेंगलुरु दक्षिण से सांसद सूर्या हुए ट्रोल:

बेंगलुरु दक्षिण से सांसद और भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या की डोसा खाते एक तस्वीर इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रही है। इसको लेकर लोग सूर्या को ट्रोल कर रहे हैं और मुश्किल घड़ी में अपने क्षेत्र के लोगों को बेसहारा छोड़ने का आरोप लगा रहे हैं। हालांकि, यह वीडियो कब का है, यह स्पष्ट नहीं है। कांग्रेस ने इसे पांच सितंबर का वीडियो बताया है।

deepak