मुख्यमंत्री ने समाधान यात्रा’ के क्रम में गया जिले की समीक्षात्मक बैठक की

-मुख्यमंत्री ने समाधान यात्रा’ के क्रम में गया जिले की समीक्षात्मक बैठक की

पटना।संवाददाता।

मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने समाधान यात्रा के क्रम में गया जिले में विभिन्न विभागों द्वारा चलायी जा रही विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति के संबंध में महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र, बोधगया के कॉन्फ्रेंस हॉल में जिलास्तरीय समीक्षात्मक बैठक की। इस समीक्षात्मक बैठक में गया जिले के सांसद, विधायकगण / विधान पार्षदगण तथा विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव / प्रधान सचिव / सचिव शामिल हुए।

बैठक में जिलाधिकारी गया श्री त्यागराजन एस० एम० ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जिले में चल रही विभिन्न विकास योजनाओं के संबंध में मुख्यमंत्री को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने अपने प्रस्तुतीकरण में हर घर नल का जल, हर घर तक पक्की गली-नालियां, बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना/ कुशल युवा कार्यक्रम, सात निश्चय-1 के तहत जिले में निर्माण किए जाने वाले भवनों की स्थिति, पॉलिटेक्निक संस्थानों में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना, मत्स्य संसाधन का विकास, मुख्यमंत्री उद्यमी योजना, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के शैक्षणिक उत्थान के लिए आवासीय विद्यालय, मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति छात्रावास अनुदान योजना, महादलित सामुदायिक भवन सह वर्क शेड योजना, जीविका समूह का गठन, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना, उच्चतर शिक्षा हेतु महिलाओं को प्रोत्साहन, अल्पसंख्यक छात्रावास योजना, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक छात्रावास अनुदान योजना, अल्पसंख्यक मुस्लिम परित्यक्ता/तलाकशुदा महिला सहायता योजना, मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना, मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग छात्रावास योजना, अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण छात्रावास योजना (पिछड़ा एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए), जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास योजना ( अति पिछड़ा वर्ग हेतु), हर खेत तक सिंचाई का पानी सहित अन्य

योजनाओं के संबंध में जानकारी दी। बैठक में शामिल जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के समक्ष अपने-अपने क्षेत्र की समस्याएं रखीं। जनप्रतिनिधियों की समस्याओं के यथाशीघ्र समाधान हेतु मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये।

बैठक में मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हमलोगों ने सात निश्चय योजना-2 के तहत हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने का निर्णय लिया है। इस काम को तेजी से करायें। गया की धरती काफी महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक है। यहां विशेष तौर पर ध्यान दीजिये ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। पेयजल की सुविधा सबको उपलब्ध हो। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत गरीब परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा हासिल करने के लिये की गई है। इस पर विशेष तौर पर ध्यान दीजिये। किसी भी छात्र का आवेदन लंबित न रहे। इस योजना का लाभ छात्रों को समय से मिले ताकि उन्हें पढ़ाई में किसी प्रकार की दिक्कत न हो। पूरे देश में जो मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थायें हैं, उनमें अध्ययनरत छात्रों को इसका लाभ दें। कोई वंचित न रहे इसका ध्यान रखें। सात निश्चय योजना-1 के तहत इसे शुरू किया गया है। अन्य शैक्षणिक कोर्स भी अगर इसमें जोड़ने की

जरूरत हो तो उस पर विचार करें। उच्चतर शिक्षा हेतु बालिकाओं को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के भुगतान में विलंब न करें, इस तेजी से करायें। हमलोगों ने वर्ष 2009 में बिहार के सभी अनुमंडलों में डिग्री कॉलेज खोलने का निर्णय लिया। जो अनुमंडल बने हैं उन सभी में भी डिग्री कॉलेज खोलने की दिशा में काम तेजी से करायें। मगध विश्वविद्यालय में पढ़ाई और परीक्षा समय पर नहीं होने की शिकायतें मिली हैं। इस संबंध में बातकर समाधान निकालें। रबर डैम को मेंटेन रखें, उसके आसपास साफ-सफाई रहे इसका विशेष रूप से ध्यान रखें।

समीक्षा बैठक में वित्त, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी, जल संसाधन मंत्री श्री संजय कुमार झा, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मो0 जमा खान, सूचना प्रावैद्यकी मंत्री सह गया जिले के प्रभारी मंत्री मो0 इसराईल मंसूरी, कृषि मंत्री श्री कुमार सर्वजीत, सहकारिता मंत्री श्री सुरेंद्र प्रसाद यादव, अनुसूचित जाति / जनजाति कल्याण मंत्री श्री संतोष कुमार सुमन, सांसद श्री विजय मांझी, सांसद श्री चंद्रेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, विधायक श्री जीतन राम मांझी, गया जिले के विधायकगण / विधान पार्षदगण, मुख्य सचिव श्री आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ० एस० सिद्धार्थ, विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव / प्रधान सचिव / सचिव, प्रधान सचिव सामान्य प्रशासन सह गया जिले के प्रभारी सचिव श्री बी० राजेन्द्र, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक विधि व्यवस्था श्री संजय सिंह, आयुक्त मगध प्रमंडल श्री मयंक बरबड़े, पुलिस महानिरीक्षक मगध प्रक्षेत्र श्री क्षत्रनील सिंह, जिलाधिकारी गया डॉ० त्याग राजन एस०एम०, वरीय पुलिस अधीक्षक गया श्री आशीष भारती सहित अन्य वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

deepak