जम्मू-कश्मीर की पर्यटन क्षमता जांचने के लिए पर्यटन मंत्रालय ने भेजा उच्च-स्तरीय प्रतिनिधिमंडल



केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा जम्मू-कश्मीर की पर्यटन क्षमता को देखने के लिए उच्च-स्तरीय प्रतिनिधिमंडल को भेजा गया है। इस प्रतिनिधिमंडल में इनक्रेडिबल इंडिया(अतुल्य भारत) के सदस्य, फिक्की के पर्यटन संघ और विभिन्न देशों के राजदूत शामिल हैं, जो वहां जाकर राज्य सरकार के हितधारकों के साथ इस संबंध में बातचीत करेंगे।
गौरतलब हो, जम्मू-कश्मीर में पर्यटन को बढ़ावा देने और भारत के, पर्यटन मानचित्र पर फिर से लाने के उद्देश्य से, केंद्र सरकार द्वारा कई पहल की गई हैं जिससे लगातार पर्यटक जम्मू-कश्मीर का रुख कर रहे हैं।




5 अगस्त 2019 के बाद से ही लगातार जम्मू-कश्मीर में लोगों की आवाजाही बढ़ गई है। लाखों सैलानी अब कश्मीर पहुंच रहे हैं। गुलमर्ग जैसे हिल स्टेशन के 100% होटल बुक हैं। पर्यटकों की आमद का अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि श्रीनगर एयरपोर्ट से रोज 45 फ्लाइट अप-डाउन हो रही हैं। पहले यह संख्या 10-15 रहती थी।
ट्यूलिप गार्डन और बादामवारी बाग:
25 मार्च, 2021 से एशिया के सबसे बड़े ट्यूलिप गार्डन को जनता के लिए खोला गया और इसके साथ इस क्षेत्र में नए टूरिस्ट सीजन की शुरुआत की गई। ट्यूलिप गार्डन, जिसे पहले ‘सिराज बाग’ के नाम से जाना जाता था, बर्फ से ढंके जबरवान पर्वत की तलहटी में स्थित है। इससे प्रसिद्ध डल झील दिखाई देती है। गार्डन में 64 से अधिक किस्मों के 15 लाख ट्यूलिप फूल खिले हैं।
कहते हैं, कश्मीर में जैसे ही श्रीनगर के पुराने शहर में नगीन झील के किनारे बादामवारी बाग में बादाम के पेड़ों पर फूल खिलने शुरू होते हैं और उन पर तितली- मधुमक्खी बैठनी शुरू हो जाएं तो मान लीजिए कि वहां पर बहार ने दस्तक दे दी है। इस बाग को 21 मार्च को लोगों के लिए खोला गया है।
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट:
3 दशक में पहली बार कश्मीर के सभी 10 जिले पर्यटकों के लिए खोले जा रहे हैं। पहले सैलानी श्रीनगर, बडगाम, बारामुला और अनंतनाग ही जा पाते थे। कुपवाड़ा का तंगधार, बंगस, बांदीपोरा का गुरेज, पुलवामा का शिकारगाह जैसे पर्यटन स्थल सैलानियों का स्वागत करने के लिए तैयार हैं।


इंफ्रास्ट्रक्चर की बात करें तो “स्मार्ट सिटी” प्रोजेक्ट के तहत, श्रीनगर के 20 धार्मिक स्थलों को रेनोवेट किया जा रहा है। इसका टारगेट जुलाई 2021 रखा गया है। इसके अलावा, ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के डाउनटाउन क्षेत्र के महत्वपूर्ण बाजारों को व आधुनिक तकनीक के साथ शहर के पूरे इंफ्रास्ट्रक्चर को फिर से डिजाइन किया जाएगा।
रात्रिकालीन विमान सेवा:
18 मार्च 2021 को रात्रिकालीन विमान सेवा यानि फर्स्ट नाइट फ्लाइट सर्विस का श्रीनगर हवाई अड्डे से परिचालन शुरू किया गया है। इसे एक ‘नए युग की सुबह’ कहा जा रहा है। इसके माध्यम से देश के बाकी हिस्सों के साथ जम्मू और कश्मीर के लिए हवाई संपर्क में सुधार होगा। पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ-साथ केंद्र शासित प्रदेश में आर्थिक विकास में भी काफी मदद मिलेगी।


खेलों इंडिया:
जम्मू-कश्मीर में खेलों को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग में ‘खेलो इंडिया’ के दूसरे संस्करण जैसे कार्यक्रम आयोजित किए गए थे, जो मार्च के आखिर में समाप्त हुए। पीएम मोदी ने इसपर कहा कि गुलमर्ग के इन खेलों से पता चलता है कि जम्मू-कश्मीर शांति और विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए उत्सुक है और ये खेल “एक भारत, श्रेष्ठ भारत” के उद्देश्य को मजबूत करेंगे।

Post Slider

1
3
2
2021-03-30 (5)
2021-03-30 (4)
2021-03-30 (1)
2021-03-30 (2)
img-20210330-wa00806031713827868325731.jpg
2021-03-30 (7)
2021-03-30 (12)
2021-03-30 (11)
2021-03-30
2021-03-30 (9)
2021-03-30 (3)
1
2021-03-30 (6)
2021-03-30 (10)
a2znews