खुशियों की त्योहार ईद ज्यादातर लोगों ने अपने अपने घरों में अदा की

*बच्चो के चेहरे पर छायी मायूसी ,ईद की खुशी अपने साथियो के साथ नही कर पाये साझा


तारापुर।संजय।


कोरोनाकाल के दौरान तारापुर के मुस्लिम बाहुल्य गावं में शुक्रवार को ग़ाज़ीपुर, लखनपुर, मिल्की, खानपुर, बिशनपुर, रामपुर, कोरजी इत्यादि गांवो में ही छोटे छोटे समुह बनाकर ईद उल फितर की नमाज कोविड 19 का निर्देश का पालन करते हुए घरो में ही सुबह 7 बजे अदा की

मोबाइल फोन के द्वारा ग़ाज़ीपुर जामा मस्जिद के ईमाम मो0 कलीम उद्वीन द्वारा बताया गया कि ईद-उल-फितर एक पर्व नही बल्कि हमारे समाज को जोडने का एक मजबुत बंधन हैं . इस पर्व में अमीरी एवं गरीबी का भेद मिटता नजर आया है ,ईद के अवसर पर मीठी सेवई खाने की प्रमुखता के पीछे मान्यता है की बिभिन्न धर्मों के लोग गिले-शिकवे भुलाकर एक दुसरे को ईद की मुबारकबाद देते है और सेवईयां उनकी तल्खी की कड़वाहट को मिठास में बदल देती है।

वहीं मो. तारिक ने बताया कि सभी मुस्लिम भाइयों ने अपने- अपने घरों में ईद उल फितर की नमाज़ को अदा किया और भारत देश में चल रहे इस कोरोना महामारी से शिफा एवं भारत देश के अमन, चैन, शांति के लिए दुआ किया. करोना गाईड लाईन को देखते हुये लोग एक दूसरे से गले- हाथ मिलाने से परहेज करते हुये एक दुसरे को मुवारकवाद, सलाम दिये. बच्चे और जवान सभी लोगो के चेहरे पर हल्की खुशी देखी गयी जबकि मायूसी ज्यादा नजर आया क्योकि लोग एक दुसरे से गले नही मिल पाये कई परिवार नये कपडे एवं अन्य सामग्री की खरीददारी नही कर पाये क्योकि लांकडाउन मुख्य बाधक था . बच्चे जिन्हे त्योहार में खुशी मिलती हैं उन्हे धर में ही रहने का मलाल अवश्य हो रहा था।

सभी लोगो ने भगवान से बहुत दुआ किया कि करोना ऐसा बिमारी से सभी को निजात मिले. गॉव, घर, ईलाके मे खुशी मिले, सभी को रोजगार मिले, जो बिमार है उसे सफा मिले.एक दिन पुर्व अनुमंडल प्रसाशन ने गाजीपुर आकर आग्रह किया था की धार्मिक स्थलों में नमाज अदा नही करके अपने अपने घर पर ही करे ताकि हम सब सुरक्षित रहे. नमाज के वाद कब्रिस्तान मे अपने अपने परिवार के मजार पर जा कर दुआ, फातेहा किये भगवान से प्रार्थना किया जो दुनिया से चले गये है उन्हे कब्र के अजाव से बचाये और जन्नत मे जगह मिले. ईद की वधाई देने वाले मे मंत्री सम्राट चौधरी,पुर्व मंत्री जय प्रकाश यादव,पुर्व मंत्री शकुनी चौधरी,अनुमंडल प्रसाशन ने भी ईद की मुवारकवाद अपने दुरभाष पर दिये.

एक दुसरे को मुवारक वाद देने वाले में विधिज्ञ संध के पूर्व अध्यक्ष हरे कृष्ण वर्मा ,महासचिव राजेश कुमार सिंह ,जिला परिषद सदस्य सह राजद नेता मंटू यादव,राजद प्रत्याशी रहे दिव्या प्रकाश,कांग्रेस नेता अरुण यादव,मुखिया राहत प्रवीण,पूर्व मुखिया नाजनीन खातुन,डा.पप्पू एजाज़,मो़ पप्पू खान,मो़ रफिउज्जमा,मो.तारिक, मो.खालिद,मो.इमराम फिरदोशी,मो.समीम उद्वीन,कृष्ण कुमार जायसवाल,मो़ कलिम,मो़ अफजल होदा,मो़ ईजहार सरपंच,मो भूटटो,पुर्व सरपंच मोसावा अजीम,मो.मोजाहिद ने एक दुसरे को मुवारकवाद दिया.

Post Slider

18
16
14
3
11
15
17
19
13
12
2
4
10
8
5
6
a2znews